" /> कोरोना काल में डाइट बनाएगा स्ट्रांग!…रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने पर लोगों का विशेष ध्यान

कोरोना काल में डाइट बनाएगा स्ट्रांग!…रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने पर लोगों का विशेष ध्यान

लॉकडाउन में वजन घटाने के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानेवाले आहार पर ध्यान देने का काम इन दिनों आम लोग कर रहे हैं। पहले लॉकडाउन के दौरान लोगों ने जंक और स्पाइसी फूड पर विशेष ध्यान दिया लेकिन इस बार कोरोना की दूसरी लहर में लोग आहार के प्रति अधिक जागरूक हो चुके हैं। लोग आहार विशेषज्ञों के सहारे अपना डाइट प्लान कर रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में लगे हुए हैं।
बता दें कि कोरोना को हराने के लिए रोगप्रतिरोधक क्षमता की आवश्यकता होती है। पिछले वर्ष लॉकडाउन में लोग मसालेदार और जंक पकवान बनाकर उसकी फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर रहे थे। लेकिन अब दूसरी लहर आ चुकी है। ऐसे में अब आम लोग अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने पर विशेष ध्यान दे रहे हैं।
आहार विशेषज्ञ डॉ. दीपाली आठवले ने बताया कि ‘जिन लोगों को पहले से ही उच्च रक्तचाप, मधुमेह, थायराइड है, उन्हें कोरोना का खतरा अधिक है इसलिए अब लोग स्वस्थ्य व पौष्टिक आहार की ओर रुख कर रहे हैं। अब लोग सांस की तकलीफ, वजन बढ़ने, दवाओं के दुष्प्रभाव से छुटकारा पाने के लिए डायट आहार पर निर्भर हो रहे हैं। इसमें कोरोना से ठीक होकर घर लौटे लोगों की संख्या सबसे अधिक है, वहीं ऑनलाइन आहार की सलाह लेनेवालों की संख्या में २५ से ३० प्रतिशत तक वृद्धि हुई है।
३५ से ५० आयुवर्ग दे रहा विशेष ध्यान
आठवले ने बताया कि ३५ से ५० आयु वर्ग के लोग दवाइयों पर निर्भर न रहकर केवल प्राकृतिक आहार पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। आहार विशेषज्ञ भी आम लोगों को साधारण भारतीय भोजन खाने की सलाह दे रहे हैं। दवाओं के सहारे विटामिन लेने की बजाय विशेषज्ञ लोगों को नींबू, कढ़ी पत्ता, कोकम शरबत, आंवला, फल आदि का सेवन करने की सलाह दे रहे हैं।