मुख्यपृष्ठसमाचारसुपरबग्स का खात्मा करेगा `सुपरड्रग्स'! अमेरिका के वैज्ञानिकों ने बनाया

सुपरबग्स का खात्मा करेगा `सुपरड्रग्स’! अमेरिका के वैज्ञानिकों ने बनाया

एजेंसी / वॉशिंगटन
अमेरिकी वैज्ञानिकों ने एक ऐसा ड्रग विकसित किया है, जो सुपरबग्स का खात्मा करेगा। इसका नाम फैबिमायसिन है। रिसर्च के दौरान यह सैकड़ों बैक्टीरिया मारने में सक्षम पाया गया। ये सभी बैक्टीरिया सामान्य दवाओं के प्रति रेसिस्टेंट हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार सुपरबग एक ऐसा बैक्टीरिया, वायरस, पैरासाइट या फंगस है, जिस पर एंटीबायोटिक दवाओं का कोई असर नहीं होता। एक जीवाणु के सुपरबग बनने की मुख्य वजह ज्यादा मात्रा में एंटीबायोटिक दवाएं लेना होता है। नॉर्मल बैक्टीरिया का क्रोमोजोम एंटीबायोटिक दवा के प्रोटीन मॉलिक्यूल्स का तोड़ निकालने लगता है और उनके खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लेता है। फैबिमायसिन एक मैन-मेड ड्रग है, जिसका ट्रायल सबसे पहले चूहों पर किया गया। इसने चूहों में ड्रग-रेसिस्टेंट निमोनिया और यूरिनरी ट्रैक्ट इन्पेâक्शंस को ठीक किया। इस पर और रिसर्च के बाद पता चला कि यह ड्रग सुपरबग्स की ३०० से ज्यादा स्ट्रेंस को मारने में कारगर है। यूनिवर्सिटी ऑफ इलिनोइस के वैज्ञानिकों ने पैâबिमायसिन के १४ वर्जन्स बनाए हैं।

अन्य समाचार