मुख्यपृष्ठनए समाचारमहाराष्ट्र सत्ता संघर्ष की सर्वोच्च न्यायालय में आज सुनवाई

महाराष्ट्र सत्ता संघर्ष की सर्वोच्च न्यायालय में आज सुनवाई

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्यपाल का हाथ पकड़कर महाराष्ट्र में गैरकानूनी तरीके से स्थापित की गई शिंदे-फडणवीस सरकार और उसे समर्थन देनेवाले बागी विधायकों की योग्यता को लेकर शिवसेना ने सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी है। महाराष्ट्र में सत्ता संघर्ष के पेच के संदर्भ में जस्टिस धनंजय चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पांच जजों की संविधान पीठ के समक्ष सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होगी।
महाविकास आघाड़ी के विरोध में बगावत करनेवाले विधायकों पर लटकती तलवार, शिंदे-फडणवीस सरकार की वैधता, शिवसेना व्हिप का उल्लंघन करके विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव और बहुमत निरीक्षण के समय मतदान करनेवाले विधायकों पर अयोग्यता की कार्रवाई करने, शिवसेना पार्टी और पार्टी चिह्न के संदर्भ में चुनाव आयोग के यहां शुरू हुए मामले सर्वोच्च न्यायालय में लंबित याचिका पर पांच न्यायमूर्तियों के खंडपीठ के समक्ष आज सुनवाई होगी। यह सुनवाई `ईडी’ सरकार का उद्धार करेगी या डुबोएगी, इसके साथ ही बागी विधायकों के भविष्य का पैâसला होगा। इन सभी बातों को लेकर महाराष्ट्र सहित पूरे देश का ध्यान इस सुनवाई की ओर लगा है।
सुनवाई की `लाइव स्ट्रीमिंग’ होने की संभावना
मुख्य न्यायाधीश उदय ललित की अध्यक्षता में सर्वोच्च न्यायालय में सभी न्यायमूर्तियों की एक बैठक हुई थी। इस बैठक में संविधान पीठ के मामले की आगे से लाइव सुनवाई का प्रस्ताव मंजूर किया गया है। उसके अनुसार आज २७ सितंबर को न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड की न्यायालय में सुनवाई की `लाइव स्ट्रीमिंग’ शुरू होने की संभावना है।

अन्य समाचार