मुख्यपृष्ठसमाचारजेजे में १८ दिनों तक ‘सर्जरी बंद’!

जेजे में १८ दिनों तक ‘सर्जरी बंद’!

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्य सरकार द्वारा संचालित जेजे अस्पताल के कारनामों से मरीजों का पंचनामा हो रहा है। मुंबई से सटे जिलों से आनेवाले मरीजों को अस्पताल की कैजुअल्टी में कार्यरत चिकित्सक यह कहकर वापस लौटा दे रहे हैं कि आगामी १८ दिनों तक अस्पताल में सर्जरी बंदी है। ऐसे में वे मुंबई के दूसरे अस्पतालों में एडमिट हों। इसी तरह के एक मामले में ठाणे जिला अस्पताल से गंभीर अवस्था में रेफर हुए मरीज को जेजे से सर्जरी बंद होने का हवाला देकर वापस लौटा दिया गया। इतना ही नहीं, मरीज के परिजनों को इस बारे में किसी से बात न करने की भी हिदायत दी गई। वहीं जेजे अस्पताल के इस कारनामे की चहुंओर निंदा हो रही है।
मिली जानकारी के अनुसार ठाणे के कासरवडवली स्थित ओवला गांव में रहनेवाले किसान कृष्णा शंकर चौधरी रविवार की सुबह अपने खेत में लगे हुए फसलों का मुआयना करने पहुंचे थे। खेत से लौटते समय किसान को करीब सात बजे जहरीले सांप ने डस लिया। इसकी जानकारी होते ही बेहोशी की अवस्था में स्कूटी पर बैठाकर परिजन अस्पताल की तरफ दौड़े। हालांकि इस बीच करीब आधा किलोमीटर तक उनका पैर सड़क पर घिसटता रहा। इसके चलते उनके पैर की लगभग सभी उंगुलियां बुरी तरह से घायल हो गर्इं। दो उंगलियों की तो हड्डियां तक दिखने लगीं। इतना ही नहीं गंभीर चोटों की वजह से खून की धार बह रही थी, जो कि थमने का नाम नहीं ले रही थी। ऐसे में बिना देर किए परिजनों ने उन्हें ठाणे जिला सरकारी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती करा दिया।

अन्य समाचार