मुख्यपृष्ठअपराधशक में रुक गई जिंदगी की रफ्तार... पत्नी की हत्याकर बोला कर...

शक में रुक गई जिंदगी की रफ्तार… पत्नी की हत्याकर बोला कर लो गिरफ्तार!

  • तनु का मोबाइल ऑन देखकर अंकित को आया गुस्सा
  • पत्नी का चाकू से गला रेतकर उतार दिया मौत के घाट

शादी किसी भी जिंदगी की दूसरी पारी होती है और फिर हालात वैसे नहीं रह जाते जैसा कि पहले होते हैं। हर किसी की चाहत होती है कि शादी के बाद उसकी लाइफ खुशहाल रहे, लेकिन कई बार दोनों या किसी एक शख्स की गलती की वजह से शादीशुदा जिंदगी पूरी तरह तबाह हो जाती है। शादी के बाद पति और पत्नी के बीच छोटे-मोटे झगड़े होना आम बात ह, जिसमें गलती किसी की भी हो सकती है लेकिन जरूरी नहीं कि हर बार गलती पति की हो, कई दफा पत्नी भी ऐसी हरकतें करती हैं जो रिश्ते को खराब कर सकती है। भरोसा किसी भी रिश्ते का मजबूत आधार होता है और पति-पत्नी के रिश्ते में ये और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है क्योंकि इस रिलेशन को जिंदगीभर के लिए निभाना होता है। कई बार ऐसे मौके आते हैं जब पति को अपनी पत्नी पर शक हो जाता है। कुछ इसी तरह का वाकया उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। नंदग्राम थाना क्षेत्र में गर्भवती पत्नी के चरित्र पर शक को लेकर पति ने गला काटकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी थाने पहुंचा और पुलिस से कहा कि मैंने अपनी पत्नी की हत्या कर दी है। मुझे गिरफ्तार कर लो। यह सुनते ही पुलिस सकते में आ गई। पुलिस आरोपी पति को लेकर उसके घर पहुंची तो देखा तो पत्नी का लहूलुहान शव पड़ा था। पुलिस की पूछताछ में आरोपी अंकित ने बताया कि उसको काफी पहले से अपनी पत्नी तनु के चरित्र पर शक था। वह किसी लड़के से देर रात तक बातचीत करती रहती थी। इसको लेकर कई बार तनु को समझाया भी लेकिन तनु से कुछ जवाब नहीं दिया। बीती रात करीब दो बजे अचानक उसकी नींद खुल गई। देखा तो पत्नी तनु किसी से बातचीत कर रही थी। उसके मोबाइल की स्क्रीन ऑन थी। यह देखते ही वह आगबबूला हो गया। उसने किचन से चाकू लाकर तनु का गला रेत दिया। हालांकि पुलिस पूछताछ में अंकित यह नहीं बता पाया कि उसकी पत्नी किस लड़के से बातचीत करती थी।
कार के लिए बेटी को मारा
घटना की सूचना मिलते ही तनु के परिजनों में कोहराम मच गया। तनु के पिता रमेश पाल ने बताया कि करीब छह साल पहले बेटी तनु की शादी अंकित से की थी। अंकित साहिबाबाद थाना क्षेत्र के सतमोला कंपनी  में नौकरी करता है। शादी के बाद कुछ दिनों तक दोनों में सबकुछ ठीक-ठाक रहा। उसके बाद अंतिक ने तनु को परेशान करने लगा। वह कहता था कि अपने मायके से दहेज लेकर आओ। शादी में दहेज कम दिया है। उसको एक २५ लाख की कार चाहिए। इसी को लेकर अंकित आए दिन तनु के साथ मारपीट किया करता था। पिता रमेश पाल ने बताया कि हम लोगों चाहते थे कि बेटी का घर बसा रहे, इसलिए बेटी और दामाद दोनों को समझाने का प्रयास करते थे। इसी बीच बेटी तनु को एक बच्चा पैदा हो गया। घर में नन्हा बच्चा आया तो लगा कि अब अंकित में कुछ सुधार आएगा लेकिन अंकित में कुछ सुधार नहीं आया। वह कार से लिए बेटी पर लगातार दबाव बना रहा था। कुछ साल बाद तनु दोबारा गर्भवती हो गई, लेकिन अंकित ने उसे परेशान करना बंद नहीं किया।
अंकित ने पत्नी के चाचा के पास किया फोन
तनु के चाचा अनुज पाल ने बताया कि भोर में करीब चार बजे घर पर अंकित का फोन आया था। फोन को मैंने ही रिसीव किया। हैलो करते ही अंकित ने कहा कि आप की बेटी तनु को मार दिया है। आकर डेडबॉडी ले जाओ। अनुज ने बताया कि यह सुनते ही मेरे पैरों तले जमीन खिसक गई। मैंने पूछा क्यों मारा तो उसने कहा कि तनु चाकू लेकर मुझे मारने आई थी। बचाने के दौरान चाकू उसके गले में लग गया। ज्यादा खून बहने ले वो मर गई।

अन्य समाचार