मुख्यपृष्ठनए समाचारसूअरों पर स्वाइन फ्लू का कहर! बुलढाणा में सैकड़ों की हुई मौत

सूअरों पर स्वाइन फ्लू का कहर! बुलढाणा में सैकड़ों की हुई मौत

-प्रभावित क्षेत्रों में मौत के घाट उतारे जा रहे जिंदा सूअर

सामना संवाददाता / मुंबई

पिछले कुछ दिनों से बुलढाणा शहर में बड़ी संख्या में सूअरों की मौत हो रही थी। इस बीच एक सूअर का पोस्टमार्टम किया गया तब पता चला कि उनकी मौत ‘स्वाइन फ्लू’ के कारण हो रही है। इसके बाद अब जिलाधिकारी ने आदेश दिया है कि प्रभावित क्षेत्र में आनेवाले सभी सूअरों को मौत के घाट उतारने के बाद उन्हें वैज्ञानिक तरीके से ठिकाने लगाया जाए। इस आदेश का अनुपालन करते हुए पशुपालन विभाग और बुलढाणा मनपा शहर के प्रभावित इलाकों में जीवित सूअरों को जिंदा ही ठिकाने लगा रही है।
उल्लेखनीय है कि बुलढाणा शहर में पिछले एक महीने से हजारों सूअर अचानक मर रहे हैं। इस पर संदेह होने पर मनपा की ओर से मृत सूअरों के अंगों के नमूने जांच के लिए प्रायोगिक विद्यालय भेजे गए। इसके बाद जानकारी सामने आई है कि इन सभी सूअरों की मौत ‘अप्रâीकी स्वाइन फ्लू’ बीमारी के कारण हुई है। प्रभारी जिलाधिकारी भाग्यश्री विसपुते ने इस संक्रमण को रोकने के लिए शहर के सभी सूअरों को मारने का आदेश दिया है। इसके मुताबिक जानकारी मिली है कि मनपा ने अब सभी सूअरों को खत्म करने के लिए दस लोगों की एक टीम बनाई है।
पशुपालन विभाग कर रहा निगरानी
इसी तरह अगले कुछ दिनों तक प्रभावित क्षेत्र में सूअरों पर पशुपालन विभाग के अधिकारियों द्वारा निगरानी रखी जाएगी। पशुपालन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इसमें अगर कुछ सूअरों में कोई बीमारी या लक्षण दिखे तो उस इलाके के सूअरों को भी मौत के घाट उतार दिया जाएगा। फिलहाल प्रशासन द्वारा उचित सावधानी बरती जा रही है।
नागरिकों में डर का माहौल
शहर के सभी सूअरों को मौत के घाट उतारा जा रहा है। प्रशासन की ओर से भी अपील की गई है कि अप्रâीकन स्वाइन फ्लू से मानव स्वास्थ्य को कोई खतरा नहीं है। इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन इससे नागरिकों में डर का माहौल बन गया है।

अन्य समाचार