मुख्यपृष्ठस्तंभझांकी : विरासत की सियासत

झांकी : विरासत की सियासत

अजय भट्टाचार्य

तेलंगाना में कई दिग्गज नेताओं के उत्तराधिकारी अपनी किस्मत आजमाने की तैयारी में जुटे हैं। मंथनी सीट पर जीत का चौका लगा चुके डी श्रीधर बाबू, पांचवीं बार सीट जीतने का प्रयास कर अपने पिता श्रीपाद राव के उत्तराधिकार को बचाए रखना चाहते हैं। आठ बार के विधायक दिग्गज कांग्रेस नेता और अविभाजित आंध्र प्रदेश के पूर्व गृह मंत्री के जना रेड्डी ने अपने छोटे बेटे जयवीर रेड्डी को कमान सौंपी है, जो नागार्जुन सागर निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने चालकुर्थी से चार बार और नागार्जुन सागर से भी इतनी ही बार जीत हासिल की। हुस्नाबाद विधानसभा क्षेत्र में राज्यसभा सांसद वैâप्टन लक्ष्मीकांत राव के बेटे और मौजूदा विधायक वोडीतेला सतीश बाबू की नजर हैट्रिक पर है। लक्ष्मीकांत राव २००४ और २००८ में हुजूराबाद से दो बार विधायक चुने गए। पीजेआर के नाम से मशहूर सीएलपी नेता पी जनार्दन रेड्डी की बेटी जीएचएमसी पार्षद विजया रेड्डी अपने पिता के चुनावी मैदान खैरताबाद से कंग्रेस उम्मीदवार हैं। पीजेआर के बेटे विष्णुवर्धन रेड्डी भी दो बार जीते। हाल ही में कांग्रेस द्वारा जुबली हिल्स से चुनाव लड़ने के लिए टिकट देने से इनकार करने के बाद वह बीआरएस में शामिल हो गए। महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल और भाजपा नेता चौधरी विद्यासागर राव के बेटे विकास राव पारिवारिक परंपरा को जारी रखने की कोशिश में वेमुलातारा सीट के लिए लॉबिंग कर रहे हैं। बीआरएस विधायक के विद्यासागर राव ने अपनी कोरुटला सीट पर अपने बेटे डॉ. संजय को सौंप आगे कर दिया है।

चुनावी झूठ
चुनावी मौसम में भारतीय जनता पार्टी की झूठ बोलने की शक्ति कई गुना बढ़ जाती है। भाजपा के नेता सार्वजनिक मंचों से कह रहे हैं कि कांग्रेस पार्टी ने किसानों का कर्ज माफ नहीं किया। मध्य प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस विधायक बाला बच्चन के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और कृषि मंत्री कमल पटेल ने स्वीकार किया है कि कांग्रेस सरकार ने करीब २७ लाख किसानों का कर्ज माफ किया। एक तरफ जहां कांग्रेस ने २७ लाख किसानों का कर्ज माफ किया, वहीं भाजपा ने सत्ता में आते ही किसनों की कर्ज माफी बंद कर दी। यह जवाब कांग्रेस विधायक बाला बच्चन ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के उस बयान पर दिया है, जिसमें नड्डा ने बड़वाह में कांग्रेस की कर्ज माफी की घोषणा पर करारा प्रहार किया था। नड्डा के मुताबिक, १५ महीने की कमलनाथ सरकार में कर्ज माफी को लेकर कहा गया कि १० दिन में किसानों का कर्ज माफ होगा। दरअसल,कांग्रेस की किसान कर्ज माफी योजना इस चुनाव में भाजपा के गले की हड्डी बनी हुई है। जब कमलनाथ की सरकार गिराकर भाजपा सत्ता में आई थी तब सबसे पहले किसान कर्ज माफी को ही बंद कर दिया। प्रदेश के किसान मतदाता तक कांग्रेस यह बात पहुंचाने में सफल रही कि अगर कमलनाथ की सरकार रही होती तो किसानों की कर्जमाफी का काम नहीं रुकता।

हालत खस्ता फिर भी मिशन ३५
बंगाल में खस्ताहाल होने के बावजूद भाजपा ने आगामी लोकसभा चुनाव में ३५ सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने पश्चिम बंगाल में १८ सीटें जीतीं थी। पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने वर्तमान प्रदेश नेतृत्व से ताजा हालात से नरमी से निबटने की सलाह के साथ कहा कि हमें विरोध प्रदर्शन के पीछे की वजहों को समझना होगा। विरोध कर रहे लोगों से बातचीत करके उनकी चिंता को समझना होगा।’ कई भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश नेतृत्व पर आरोप लगाया है पार्टी में आए नए लोगों को तवज्जो दी जा रही है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि प्रदेश में दिलीप घोष जैसे वरिष्ठ नेताओं को नजरअंदाज किया जा रहा है। इन सबके बीच तृणमूल कांग्रेस ने अंदरूनी संघर्ष से निपटने में नाकाम रहने पर भाजपा की आलोचना की है। पार्टी प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि भाजपा पश्चिम बंगाल में सत्ता में आना चाहती है, लेकिन उसका पार्टी के अंदरूनी संघर्ष पर नियंत्रण नहीं है। भाजपा तृणमूल को हराने का सपना देखने के बजाय अपनी पार्टी की लड़ाई पर ध्यान दे।

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार एवं स्तंभकार हैं तथा व्यंग्यात्मक लेखन में महारत रखते हैं।)

अन्य समाचार