मुख्यपृष्ठस्तंभतड़का : सूरन का पूरन

तड़का : सूरन का पूरन

कविता श्रीवास्तव

दीपावली के दिन हमारी सासू मां सूरन की सब्जी जरूर बनवाती हैं। यही चलन मायके में भी है। हम बचपन से ही सुनते आए हैं कि लक्ष्मी पूजन के दिन सूरन की सब्जी खाना अनिवार्य है। ऐसा क्यों? हमने कभी इसकी पड़ताल नहीं की। लेकिन कल सुबह जब मैं सूरन खरीदने निकली तो ताज्जुब हुआ! किसी सब्जीवाले के पास सूरन था ही नहीं। सबके सूरन बिक चुके थे। मतलब घर-घर सूरन पहुंच चुका था। मैं चूक गई थी। बहुत देर तक तलाश के बाद एक छोटे से ठेले वाले ने धीरे से कहा, ‘हां, मिल जाएगा सूरन। ३० रुपए का पाव किलो।’ उसने तौलिए के नीचे से सूरन का एक टुकड़ा निकाल कर कहा लीजिए। अमूमन सूरन कभी चालीस रुपए तो कभी तीस रुपए प्रति किलो मिल जाता है। लेकिन दीपावली के दिन उत्तर भारतीयों में सूरन की इतनी ज्यादा डिमांड है कि १२० रु. किलो के दाम से लेना पड़ा। दीपावली का दिन जो था। कहते हैं सूरन से लक्ष्मीजी का सीधा संबंध है। क्योंकि लक्ष्मीजी पाताल निवासिनी हैं और सूरन जमीन के नीचे होता है। सूरन की जड़ एक बार लग जाए तो उसका कंद उगता-बढ़ता ही रहता है। उसे जब काट लिया जाता है तो फिर अनेक सूरन लगे हुए मिलते हैं। अपने आप इसकी उपज होती रहती है। इसी बढ़ने की प्रक्रिया को माता लक्ष्मी की समृद्धि बढ़ने की प्रक्रिया से जोड़ कर देखा जाता है। इसलिए इसे दीपावली को खाने की परंपरा चली आ रही है। उसके विस्तार को लक्ष्मीजी का विस्तार माना जाता है। मान्यता है कि दीपावली के दिन सूरन या जिमीकंद खाने से घर में सुख-समृद्धि और धन बढ़ता है और कभी खत्म नहीं होता। इस सब्जी को खाने की परंपरा काशी (वाराणसी) से आई है। वैसे स्वास्थ्य की दृष्टि से सूरन की सब्जी उत्तम मानी गई है। यह पेट, कैंसर और बवासीर की तकलीफ में बहुत फायदेमंद होती है। बहुत कम मसाले में कई किस्म की सब्जी सूरन से बनाई जा सकती है। इसमें अच्छे स्वास्थ्यवर्धक तत्व होते हैं। एंटीऑक्सीडेंट, बीटा कैरोटीन, विटामिन, मिनरल्स, प्रोटीन, कार्ब्स, पोटैशियम फाइबर और गुड फैट से भरा हुआ सूरन एक सुपरफूड है। कम तेल मसालों से बनी सूरन की सब्जी पाचनतंत्र को मजबूत करती है। महिलाओं में मेटाबॉलिज्म को बढ़ाकर अर्ली मोनोपॉज की समस्या से निजात दिलाने में सहायक होती है। सूरन में सूजनरोधी गुण होता है, जिसके सेवन से गठिया जैसे रोग में भी आराम पहुंचता है। इसे स्लिमिंग फूड भी कहते हैं। ये कोलेस्ट्रॉल को कम करके वजन कम करने में भी मदद करता है। विटामिन-ए, पोटैशियम और आयरन से भरपूर सूरन तनाव भी कम करता है। इसका अंग्रेजी नाम एलीफैंट फूट यम और वैज्ञानिक नाम अमोर्फोफैलस पेओनीफोलियस है। सब्जीवाले ने बताया कि इस बार दीपावली रविवार को पड़ी, जिस दिन थोक सब्जी नहीं आती है। इसलिए सूरन का बहुत जल्दी पूरन हो गया।

अन्य समाचार