मुख्यपृष्ठसमाचारपीएफआई के नाम से टेलर को मिला बम से उड़ाने का पत्र

पीएफआई के नाम से टेलर को मिला बम से उड़ाने का पत्र

रमेश सर्राफ धमोरा / जयपुर

राजस्थान में अलवर से 17 किलोमीटर दूर स्थित चिकानी गांव में एक 76 साल के टेलर को बम से उड़ाने की धमकी का पत्र मिला है। पत्र भेजने वाले ने अपना नाम पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) लिखा है। इस पत्र से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है और लोगों में डर का माहौल है। चिकानी के अंबेडकर कॉलोनी ऊपला मोहल्ला निवासी पीड़ित टेलर सोहनलाल जाटव ने बताया कि यह पत्र करीब 25 दिन पहले 13 अक्टूबर को डाक से मिला था। चुनाव में माहौल न बिगड़े, इसलिए इस मामले को लेकर चुप रहा। अब 7 दिसंबर को सदर थाना पुलिस को शिकायत दी है।
सदर थानाधिकारी दिनेश मीना के अनुसार, मामला सामने आने के बाद पुलिस ने भादस की धारा 385 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर सदर थाना पुलिस जांच कर रही है। मामला चिकानी में दुकानों पर दो पक्षों के अधिकार को लेकर है। लेटर में भी इन दुकानों का जिक्र है। रिपोर्ट में बताया कि टेलर को धमकी भरा पत्र डाक के जरिए भेजा गया। पत्र में लिखा है कि सोहनलाल टेलर मेरी बात अच्छी तरह समझ लेना। तेरी दुकान मुसलमानों की जगह पर है। हमें पता लगा है कि यह जगह मुस्लिम भाइयों की है। आपने कब्जा किया है। यह नहीं चलेगा। अब तुमसे धैर्य से बोल रहा हूं कि इस जगह की सही कीमत ले लो और खाली कर दो। खाली नहीं करोगे तो पता होना चाहिए। मैं कौन हूं। पीएफआई आपको 31 दिसंबर तक का समय देता है। नहीं तो पीएफआई को दुनिया जानती है। एक रात में बम से सब नष्ट कर दूंगा, संभल जाओ।
सोहनलाल का कहना है कि मैंने 1971 में दुकान ग्राम पंचायत से खरीदी थी। पैसा जमा करा कर पट्टा लिया था। उसके बाद रती मोहम्मद और अन्य से केस चला था। बाद में समझौता भी हो गया था। इसके बाद जमीन पर दुकान बना लिया था और कई साल से इसी दुकान में टेलरिंग का काम कर रहा है। अब 6 महीने से बालाजी स्टेशनर्स को दुकान किराए पर दे रखी है। अब धमकी दी जा रही है कि दुकान पर मेरा कब्जा नाजायज है। इसका मुआवजा लो और खाली कर दो। धमकी में पीएफआई का जिक्र किया गया है। कहा न मानने पर बम से उड़ाने की बात कही है।

अन्य समाचार