मुख्यपृष्ठसमाचारइस्कॉन की सराहनीय पहल: घर बैठे ऑनलाइन लीजिए श्रीमद्भागवत का प्रशिक्षण

इस्कॉन की सराहनीय पहल: घर बैठे ऑनलाइन लीजिए श्रीमद्भागवत का प्रशिक्षण

18 दिनों में हीमिलेगा डिप्लोमा सर्टिफिकेट

अयोध्या।इस्‍कॉन की अयोध्या शाखा ने एक सराहनीय पहल की शुरुआत की है। जिसके जरिये घर बैठे लोगों को श्रीमद्भागवत गीता का व्यावहारिक ज्ञान देने के लिए 18 दिनों का ऑनलाइन प्रशिक्षण सत्र चलाया जा रहा है। यह पूरी तरह से मुफ्त है। अयोध्या शाखा के मुख्य वक्ता देवशेखर विष्णुदास ने बताया कि भगवान श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन को दिया गया ज्ञान बहुत ही प्रमाणिक व व्यावहारिक है। कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप से पूरा देश त्रस्त हो चुका है। चारों ओर उदासी व भय का माहौल बना है। महामारी का असर न केवल लोगों की जिंदगी पर पड़ा है, बल्कि आर्थिक, राजनीतिक व सामाजिक स्तर पर भी असर पड़ा है। तनाव भरे माहौल से लोगों को बाहर निकालने के लिए इस्कान, अयोध्या की ओर से सराहनीय पहल की गई है। कोरोना काल में घर बैठे लोगों को श्रीमद्भागवत गीता का व्यावहारिक ज्ञान देने के लिए इस्कॉन अयोध्या की ओर से 18 दिनों का ऑनलाइन प्रशिक्षण सत्र आरंभ किया जा रहा है। अब तक इस प्रशिक्षण के तीन सत्र चल चुके है अगला सत्र अप्रैल या मई माह में प्रारंभ होगा।

इस्कॉन मंदिर, अयोध्या के प्रोजेक्ट निदेशक देवशेखर विष्णु दास ने बताया, एक जून से 17 जून तक चलने वाले ऑनलाइन क्लास में देश व बाहर रहने वाले श्रीमद्भागवत कथाप्रेमियों ने भाग लिया। ऑनलाइन क्लास के दौरान प्रतिभागियों को मुफ्त में अध्ययन सामग्री व ऑनलाइन प्रमाण पत्र निर्गत किया गया। प्रमाणपत्र उन्ही लोगो को जारी किया जाता है जिनके अंक 40 प्रतिशत से अधिक होता है। पाठ्यक्रम में भाग लेकर प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को डिप्लोमा प्रमाण पत्र दिया जाता है। प्रतिभागियों को हर दिन श्रीमद्भागवत गीता के एक अध्याय के बारे में अवगत कराया जाता है। 18 दिनों में 18 अध्याय की जानकारी दी जाती है। भारत के प्रतिभागी रोजाना शाम सात बजे से आठ बजे तक सत्र में भाग लेते है। वहीं, अमेरिका में रहने वाले प्रतिभागी सुबह साढ़े नौ बजे से सुबह साढ़े 10 बजे तक प्रशिक्षण प्राप्त करते है। इसके साथ ही संस्था द्वारा प्रत्येक मंगलवार को नाका हनुमानगढ़ी व शुक्रवार को हट्टी माता मंदिर रिकाबगंज में निशुल्क खिचड़ी वितरण का आयोजन सीता रशोई के माध्यम से किया जाता है। जल्द ही एक भव्य राधा कृष्ण के मंदिर का भी निर्माण किये जाने की योजना है।

अन्य समाचार