मुख्यपृष्ठसमाचारदुश्मनों को ‘तारा' दिखाएगा तारा

दुश्मनों को ‘तारा’ दिखाएगा तारा

सामना संवाददाता / मुंबई
भारतीय नौसेना के बेड़े में एक और जंगी जहाज शामिल होने जा रहा है, जो दुश्मनों को तारा दिखाने में अहम भूमिका निभाएगा। १७ए तारागिरि नामक इस युद्धपोत को ११ सितंबर, २०२२ को लॉन्च किया जाएगा। इस जंगी जहाज को मुंबई के माझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) में निर्मित किया गया है। तारागिरि को १० सितंबर, २०२० से बनाने की शुरुआत की गई थी। अगस्त २०२५ तक इसे भारतीय नौसेना को सुपुर्द करने की उम्मीद है। पोत को लगभग ३,५१० टन के वजन के साथ लॉन्च किया जाएगा। दो गैस टर्बाइनों द्वारा संचालित यह १४९.०२ मीटर लंबा और १७.८ मीटर चौड़ा पोत है। इसे लगभग ६,६७० टन के विस्थापन पर २८ समुद्री मील से अधिक की गति प्राप्त करने के लिए डिजाइन किया गया है। स्वदेशी रूप से डिजाइन किए गए इस पोत में अत्याधुनिक हथियार, सेंसर, उन्नत कार्रवाई सूचना प्रणाली, एकीकृत मंच प्रबंधन प्रणाली, विश्वस्तरीय मॉड्यूलर रहने की जगह, बिजली वितरण प्रणाली और कई अन्य उन्नत सुविधाएं होंगी। इसे सतह से सतह पर मार करनेवाली सुपरसोनिक मिसाइल प्रणाली से लैस किया जाएगा। दुश्मन के विमानों और एंटी-शिप क्रूज मिसाइलों के खतरे का मुकाबला करने के लिए डिजाइन की गई है।

अन्य समाचार