मुख्यपृष्ठखबरेंटैक्सी की आड़ में नशे का कारोबार! २२ बॉक्स कफ सिरप बरामद

टैक्सी की आड़ में नशे का कारोबार! २२ बॉक्स कफ सिरप बरामद

डोंगरी पुलिस की कार्रवाई
दो आरोपी हुए गिरफ्तार
गोपाल गुप्ता / मुंबई। मुंबई पुलिस ने ड्रग्स माफियाओं की कमर तोड़ दी है। हालांकि ये लोग तस्करी के लिए नए-नए रास्ते तलाश लेते हैं। शहर के नशेड़ियों को अब ऑटो और टैक्सी द्वारा नशा सप्लाई किया जा रहा है लेकिन पुलिस की गश्त और मुखबिरों की सतर्कता से इन्हें गिरफ्तार कर लिया जाता है। ऐसी ही एक घटना सामने आई है। मुंबई शहर में टैक्सी की आड़ में नशे का कारोबार करनेवाले एक टैक्सी चालक सहित दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
डोंगरी पुलिस स्टेशन की वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शबाना शेख के मुताबिक पुलिस निरीक्षक बायस ठाकुर को मुखबिरों से सूचना मिली कि डोंगरी इलाके में एक टैक्सी से अवैध कफ सिरप की सप्लाई की जा रही है, जिसे नशे के लिए इस्तेमाल किया जाता है। सूचना के आधार पर पुलिस ने उमरखाड़ी इलाके में एक संदिग्ध टैक्सी दिखाई दी। टैक्सी में चालक सहित दो लोग बैठे थे। पुलिस दोनों से पूछताछ करने लगी, लेकिन जब आरोपियों द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया तो दोनों को हिरासत में ले लिया। टैक्सी को डोंगरी पुलिस स्टेशन में लाया गया। टैक्सी की तलाशी लेने पर अवैध रूप से २२ बॉक्स कफ सिरप बरामद किया गया। प्रत्येक बोतल की कीमत १०८ रुपए है। पुलिस के मुताबिक जब्त की गई सिरप की कीमत करीब ३ लाख, ४२ हजार रुपए आंकी गई है। दोनों आरोपी ३५ और ३६ वर्ष के हैं। पुलिस ने एनडीपीस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।
बता दें कि गत महीने दिंडोशी पुलिस ने चार ऑटो रिक्शा ड्राइवर को ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया था, जो ऑटोचालक की आड़ में घाटकोपर से गोरेगांव फिल्मसिटी में ड्रग्स सप्लाई करते थे। पुलिस ने मौके पर इनके पास से २ किलो ड्रग्स (गांजा) और एक ऑटोरिक्शा बरामद किया है। ड्रग्स की कीमत ३० हजार रुपए बताई जा रही है। इसी तरह वसई-विरार शहर में करीब चार लाख रुपए का सात किलो गांजा बरामद किया गया था। इस गांजे को ठाणे से वसई-विरार शहर में एक ऑटो के माध्यम से सप्लाई किया जा रहा था। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

अन्य समाचार