मुख्यपृष्ठनए समाचारप्याज किसानों की आंखों से छलके आंसू सरकार के रवैए से सड़ने...

प्याज किसानों की आंखों से छलके आंसू सरकार के रवैए से सड़ने लगे प्याज निर्यात बंदी के खिलाफ आंदोलन शुरू

सामना संवाददाता / नागपुर

इस साल प्रदेश में अपेक्षित बारिश नहीं हुई, जिसकी वजह से किसान संकट में हैं तो दूसरी तरफ बची हुए फसलें भी बेमौसम बारिश के कारण खराब हो गई हैं। इस विकट परिस्थिति में किसानों ने किसी तरह प्याज की फसल को बचाए रखा था, लेकिन अब केंद्र सरकार की गलत नीति के चलते राज्य के प्याज किसानों की आंखों से आंसू छलक रहे हैं। प्याज निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के केंद्र के फैसले की वजह से प्याज की कीमत जमीन पर आ गई है। प्याज के दाम लगातार कम हो रहे हैं तो दूसरी तरफ राज्य के विभिन्न सब्जी मंडियों में प्याज की आवक लगातार जारी है। ऐसे में प्याज को लेकर अब किसान परेशान हैं। केंद्र सरकार के इस फैसले से राज्यभर के प्याज किसानों में आक्रोश बढ़ने लगा है। राज्य में कम बारिश और बेमौसम बरसात के साथ ओलावृष्टि से बर्बाद हो चुके किसानों को अब केंद्र सरकार की नीति मार रही है। किसानों को शीतकालीन सत्र के दौरान आर्थिक मदद और राहत मिलने की उम्मीद थी, लेकिन राज्य सरकार भी जिस तरह से किसानों के मुद्दे पर अनदेखी कर रही है, उससे उन्हें अभी से निराशा नजर आ रही है।
केंद्र सरकार की निर्यात बंदी के पैâसले से किसानों में नाराजगी पैâल गई है। प्याज किसान कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच मंत्री पीयूष गोयल ने उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को आश्वासन दिया है कि केंद्र सरकार जल्द ही प्याज किसानों के लिए सकारात्मक निर्णय लेगी। लेकिन कब लेगी, यह तय नहीं है। साथ ही किसानों को इस सरकार के आश्वासन पर विश्वास नहीं है।

राज्य के तमाम कृषि उपज बाजार समिति में बड़ी संख्या में प्याज से भरी गाड़ियां आ रही हैं। एक मंडी में औसतन ३ से ४ सौ तक गाड़ियां प्याज से भरी आ रही हैं। सोलापुर बाजार समिति में करीब १,२०० से १,५०० गाड़ी प्याज की आवक हुई है। नासिक की मंडी में प्याज की २ हजार से अधिक गाड़ियां आई हैं। कई बाजार समिति ने शनिवार को बाजार बंद करने का निर्णय लिया है तो रविवार को साप्ताहिक अवकाश होने के कारण बाजार समिति लगातार दो दिन बंद रहेगी। निर्यात पर प्रतिबंध के कारण पहले से ही प्याज के दाम गिर रहे हैं, अब मंडी बंद होने से प्याज किसानों की आंखों से आंसू निकलेगा।

अन्य समाचार