मुख्यपृष्ठनए समाचारआतंकियों ने बना डाले पश्चिमी यूपी के चप्पे-चप्पे पर स्लीपर सेल!

आतंकियों ने बना डाले पश्चिमी यूपी के चप्पे-चप्पे पर स्लीपर सेल!

शामली में आईएसआई एजेंट के घर पर एनआईए की दबिश

मनोज श्रीवास्तव /लखनऊ
पश्चिमी यूपी में इन दिनों आतंकियों ने पूरी तरह से पैर पसार लिए हैं। क्षेत्र के चप्पे-चप्पे में स्लीपर सेल फैल चुके हैं। एनआईए और एटीएस पश्चिमी यूपी में आतंकी संगठनों से जुड़े लोगों की तलाश में आए दिन छापेमारी कर रहीr है। कभी आइसिस, कभी आईएसआई, तो कभी बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश से जुड़े आतंकियों की तलाश में दबिश देती है तो कभी अल कायदा से जुड़े लोगों की तलाश में खाक छानती है। पश्चिमी यूपी का शायद ही कोई जनपद होगा जहां आतंकियों की तलाश में धड़-पकड़ न की गई हो।

यूपी एटीएस ने आइसिस से जुड़े एक और संदिग्ध वजीउल्लाह को छत्तीसगढ़ से गिरफ्तार किया है। उसे ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया जा रहा है। वह मूल रूप से छत्तीसगढ़ का ही रहने वाला है। वजीउल्लाह अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर चुका है और अलीगढ़ में ही निजी कोचिंग में पढ़ा रहा था। वह अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कई वर्तमान व पूर्व छात्रों के संगठन से भी जुड़ा हुआ है। उसके दो साथियों अब्दुल्ला अर्सलान और माज बिन तारिक को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। लखनऊ स्थित एनआईए अदालत ने इन दोनों की छह दिन की रिमांड मंजूर की है। दोनों को १३ नवंबर को लखनऊ जेल में दाखिल कराया जाएगा। इससे पहले मंगलवार की भोर में आईएसआई एजेंट कलीम प्रकरण में एनआईए की टीम ने शामली जिले की स्थानीय पुलिस और प्रशासन के साथ मोहल्ला नौ कुआं रोड पर दबिश दी। कलीम के माता, पिता और अन्य परिजनों से करीब चार घंटे तक पूछताछ की गई। इस दौरान कुछ सामान को भी टीम ने कब्जे में लिया है। माना जा रहा है कि मामले में अभी बड़ा खुलासा हो सकता है। बता दें कि एसटीएफ और पुलिस ने बीती १७ अगस्त को शामली के नौ कुआं रोड के रहने वाले कलीम को पकड़ा था। दावा किया था कि कलीम आईएसआई एजेंट है और पाकिस्तान में बैठे आईएसआई एजेंट दिलशाद मिर्जा के संपर्क में था। कलीम का भाई तहसीम भी आईएसआई के संपर्क में है। व्हॉटसऐप पर हिंदुस्थान के सैन्य क्षेत्रों और अन्य स्थानों के फोटो भी भेजे थे। जांच में सामने आया था कि सहारनपुर का रहने वाला यूसुफ समशी भी दोनों के संपर्क में रहकर फर्जी सिम उपलब्ध करा रहा था।
मंगलवार को सुबह करीब ३:३० बजे एनआईए दिल्ली की टीम ने कोतवाली में आमद दर्ज कराई। इसके बाद कलीम के घर पर मोहल्ला नौ कुआं रोड पर दबिश दी गई। यहां पर टीम के सदस्यों ने करीब ४ घंटे तक कलीम के माता-पिता और अन्य परिजनों से पूछताछ की। इस दौरान एक बैग और अन्य सामान को भी टीम ने कब्जे में ले लिया। फरार चल रहे आरोपी तहसीम के बारे में भी जानकारी हासिल की। इसके बाद टीम दिल्ली के लिए लौट गई। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि एनआईए ने दबिश दी थी। कलीम के बारे में उसके परिजनों से जानकारी हासिल की। सुबह ४ बजे ही मोहल्ला नौ कुआं में दबिश से लोगों में खलबली मच गई। लोग एक दूसरे से टीम के बारे में जानकारी लेते नजर आए।

अन्य समाचार