मुख्यपृष्ठनए समाचारसमझौता मान्य नहीं सुनवाई जारी रखें!... संजय राऊत की कोर्ट में स्पष्ट...

समझौता मान्य नहीं सुनवाई जारी रखें!… संजय राऊत की कोर्ट में स्पष्ट भूमिका

सामना संवाददाता / नासिक

गिरणा सहकारी चीनी मिल घोटाले के आरोप में मंत्री दादा भुसे द्वारा दायर मानहानि के मामले में समझौता करने से शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी के नेता, सांसद संजय राऊत ने मालेगांव कोर्ट में स्पष्ट रूप से इनकार कर दिया। इसके चलते कोर्ट ने मामले को जारी रखते हुए अगली सुनवाई ३ फरवरी को तय की है।
मालेगांव के दाभाड़ी स्थित गिरणा सहकारी चीनी कारखाने को बचाने के नाम पर मंत्री दादा भूसे ने किसानों से १७८ करोड़ २५ लाख रुपए जमा किया और घोटाला किया। यह आरोप लगाते हुए सांसद संजय राऊत ने पैसे का हिसाब मांगा और इसकी जांच कराने की मांग ईडी से की है। इस बारे में २२ जून २०२३ को दैनिक ‘सामना’ में खबर छपी थी। खुद को बदनाम करने का दावा करते हुए मंत्री दादा भुसे ने मालेगांव के कोर्ट में हर्जाने का दावा दायर किया। कोर्ट में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तेजवंत सिंह के सामने शनिवार को सांसद संजय राऊत पेश हुए थे। शनिवार ९ दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत है। इस मामले में आप दोनों ही जन प्रतिनिधि हैं। कोर्ट ने राय दी कि लोक अदालत में समझौता कर नया कदम उठाया जाना चाहिए। भ्रष्टाचार का ये मामला लोगों के सामने आया है। मैंने मामला दर्ज नहीं कराया है। मैं समझौता नहीं करना चाहता। सांसद संजय राऊत ने कोर्ट के समक्ष स्पष्ट पक्ष रखा कि मामले को चलने दिया जाए।

अन्य समाचार