मुख्यपृष्ठनए समाचारउल्हासनगर में कुछ भी हो सकता है...बिल्डर ने कराया मृत महिला के...

उल्हासनगर में कुछ भी हो सकता है…बिल्डर ने कराया मृत महिला के नाम प्लान पास!

• अब मनपा ने जारी की कार्रवाई की नोटिस
सामना संवाददाता / मुंबई
उल्हासनगर महानगरपालिका के पूर्व आयुक्त रामनाथ सोनावने कहते थे कि उल्हासनगर में कुछ भी हो सकता है। इसी तरह का एक नजारा उल्हासनगर महापालिका में देखने को मिला है, एक चीटर बिल्डर ने मरी हुई महिला के नाम से प्लान पास कराकर बिल्डिंग बना ली है। इस मामले का पर्दाफाश एक व्यापारी अर्जुन रामरख्यानी ने किया। इसके बाद उल्हासनगर महानगरपालिका ने बिल्डर को नोटिस जारी की है। नोटिस में लिखा है कि बिल्डर ने लक्ष्मीबाई किशनचंद हरयाणी नामक मृत महिला के नाम प्लान पास करवा कर अब वहां बिल्डिंग भी बना ली। महानगरपालिका ने बिल्डर को नोटिस में चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि वह पांच दिन के अंदर स्पष्टीकरण देने में विफल रहा तो उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता-१८६० और महाराष्ट्र प्रादेशिक नगररचना अधिनियम-१९६६ के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। उक्त मामले में व्यापारी अर्जुन ने सबूत भी दिया था कि जिन लक्ष्मीबाई हरयाणी के नाम पर बिल्डिंग का प्लान पास हुआ है, उनकी १५ जून २००० को मौत हो गई है और बिल्डिंग का प्लान पास हुआ ५ अगस्त २०१३ को। बिल्डर ने इस बाबत समस्त हस्ताक्षर फर्जी किए और सारे दस्तावेज भी फर्जी जमा किए। महानगरपालिका ने जांच में पाया कि व्यापारी अर्जुन की शिकायत सही है। उसके बाद अब महानगरपालिका ने बिल्डर को नोटिस जारी की है। नोटिस में सीसी को भी रद्द किए जाने का जिक्र है।

अन्य समाचार