मुख्यपृष्ठटॉप समाचारभाजपा नगरसेवक के पिता का कारनामा...बिल्डर को लगाया करोड़ों का चूना

भाजपा नगरसेवक के पिता का कारनामा…बिल्डर को लगाया करोड़ों का चूना

• धोखाधड़ी में पहुंच गया हवालात
विनोद मिश्र / भायंदर। मीरा-भायंदर महानगरपालिका क्षेत्र में काशी गांव के एक नगरसेवक के पिता के खिलाफ काशीमीरा पुलिस थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया गया है। उन पर आरोप है कि मीरा रोड सीटीएस सर्वे क्रमांक-२ की जमीन खुद की नहीं होते हुए भी उन्होंने उस जमीन पर एक बिल्डर से करार कर ७० लाख रुपए ले लिए। इस प्रकरण में काशीमीरा पुलिस ने सोमवार को उसे गिरफ्तार कर लिया है। काशीमीरा पुलिस में दर्ज शिकायत के अनुसार मोजे मीरा की सीटीएस क्रमांक-२ की ४,७५८ वर्ग मीटर की जगह नगरसेवक के पिता के नाम पर नहीं थी। इसके बावजूद उन्होंने इस जमीन को उनके नाम करने के लिए तलाठी को सभी कागज-पत्र दिए हैं। ऐसा बताकर इस जमीन को भागीदारी में विकसित करने हेतु मुलुंड निवासी बिल्डर सत्येंद्र विश्वकर्मा व उनके भागीदार से करार कर अक्टूबर २०१५ में ११ लाख रुपए नगद और ५९ लाख रुपए चेक के मार्फत लिए। इसके बाद उसने वर्ष २०१७ में बिल्डर विश्वकर्मा से कहा कि आपके ७० लाख रुपए लाभ सहित १ करोड़ १० लाख रुपए वापस देता हूं और हमारे बीच हुए करारनामे को रद्द कर देते हैं। इस बात पर दोनों की सहमति होने के बाद नगरसेवक के पिता ने विश्वकर्मा को बेसिन वैâथलिक बैंक का १ करोड़ १० लाख रुपए का चेक दिया। रद्द किए गए नए करार में यह भी लिखा गया था कि किसी कारणवश चेक पास नहीं हुआ तो नगरसेवक के पिता बिल्डर विश्वकर्मा को प्रतिमाह ५ लाख रुपए देंगे। नगरसेवक के पिता पर आरोप है कि उन्होंने बिल्डर विश्वकर्मा को वर्ष २०२२ तक एक भी रुपए वापस नहीं करते हुए अन्य तीन बिल्डरों को वही जमीन बेच दी। इस प्रकरण में काशीमीरा पुलिस ने नगरसेवक के पिता के खिलाफ भादंवि की धारा ४२०, ४०६ के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर इस प्रकरण में जालसाजी का शिकार हुए अन्य तीन बिल्डर को गवाह बनाया है। आरोपी को न्यायालय के समक्ष हाजिर करने पर १७ मार्च तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश न्यायालय ने दिया है।

अन्य समाचार