मुख्यपृष्ठसमाचारहाइवे पर ट्रक से भिड़ी कार, डॉक्टर के युवा  इंजीनियर बेटे ने...

हाइवे पर ट्रक से भिड़ी कार, डॉक्टर के युवा  इंजीनियर बेटे ने तोड़ा दम

विक्रम सिंह / सुलतानपुर
रविवार की मध्यरात्रि के बाद अयोध्या-प्रयागराज हाइवे पर भीषण सड़क हादसे में सुलतानपुर शहर के एक जाने-माने पैथोलॉजिस्ट की कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। कार में सवार उनके दो बेटे हादसे में गंभीर रूप से जख्मी हो गए, जिसके चलते उनके बड़े बेटे (युवा साफ्टवेयर इंजीनियर) ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जबकि दूसरे बेटे की भी हालत चिंताजनक देखकर राजधानी लखनऊ के अपोलो अस्पताल ले जाया गया है।
सुलतानपुर शहर के बाधमंडी चौराहा निवासी डॉक्टर मनोज अग्रवाल जाने माने पैथोलॉजिस्ट हैं, जिनका बड़ा बेटा कौस्तुभ (२२) बंगलुरु में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था और इन दिनों छुट्टी लेकर घर आया था। रविवार को इंडो-पाक क्रिकेट मैच के बाद कौस्तुभ अपने छोटे भाई कार्तिकेय (१९) व उसके साथी सिदक के साथ कार से डिनर के लिए हाइवे के एक ढाबे पर गए हुए थे। भोजन के पश्चात तीनों कार से लौटने लगे। ड्राइविंग सीट पर चिकित्सक का छोटा बेटा कार्तिकेय, आगे बगल में उसका दोस्त व पीछे की सीट पर बड़ा बेटा कौस्तुभ बैठा था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जब कार सौरमऊ फ्लाईओवर से नीचे उतर रही थी, तभी विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक ने साइड से जोरदार टक्कर मार दी। जिससे चालक की साइड से कार के परखच्चे उड़ गए। कारसवार हताहतों की चीखें सुनकर क्षेत्रवासी दौड़े। पुलिस भी आ गई और गाड़ी में बेसुध होकर फंसे पड़े घायलों को बाहर निकाला। देहात पुलिस ने बताया कि डॉक्टर के इंजीनियर पुत्र की घटनास्थल पर ही मौत हो चुकी थी। जबकि दूसरे पुत्र कार्तिकेय व उसके साथी सिदक पुत्र कमलजीत सिंह को तत्काल प्राथमिक चिकित्सा के लिए जिला अस्पताल लाया गया, जहां से चोट हल्की होने के कारण कुछ देर के बाद सिदक को डिस्चार्ज कर दिया गया। जबकि कार्तिकेय की चोट गंभीर होने के कारण उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया गया है। उधर हादसे के बाद ट्रक लेकर उसका चालक फरार हो गया। जिसकी शिनाख्त के लिए पुलिस छानबीन में जुटी हुई है।

अन्य समाचार