मुख्यपृष्ठखबरेंक्रिकेट ने क्रेजी किया रे!... मां से नाराज होकर घर से भाग...

क्रिकेट ने क्रेजी किया रे!… मां से नाराज होकर घर से भाग गया बच्चा

सामना संवाददाता / ठाणे
कल्याण पुलिस ने एक ऐसे १० वर्षीय बच्चे को उसके माता-पिता से मिलवाया, जो अपनी मां से गुस्सा होकर जालना से कल्याण अकेले भाग आया था। पुलिस की प्राथमिक जांच में उसके कल्याण आने की वजह बड़ी ही चौंकानेवाली है। बच्चे ने बताया कि वह क्रिकेट का बहुत क्रेजी है लेकिन उसकी मां उसे क्रिकेट खेलने से मना करती थी, जिसके चलते वह मां से नाराज होकर ट्रेन पकड़कर कल्याण पहुंच गया था।
बता दें कि ठाणे पुलिस को मिले बच्चों को उनके परिजनों से मिलाने के लिए पुलिस निरंतर काम करती रहती है। इसी के तहत ८ मार्च को ठाणे क्राइम ब्रांच की टीम ने बाल सुधार गृह में रहनेवाले बच्चों से बातचीत शुरू की, ताकि वे अपने माता-पिता से दोबारा मिल सकें। उसी समय पुलिस को इस १० वर्षीय लड़के के बारे में भी जानकारी मिली। लड़का सिर्फ अपने नाम के साथ जालना में रहता था, ऐसा बता रहा था। यहां तक कि बच्चा अपने माता-पिता का नाम तक नहीं जानता था। लड़का बार-बार जालना बोल रहा था, इसलिए पुलिस को अंदाजा हो गया था कि वह जालना का रहनेवाला है। मिली जानकारी के आधार पर पुलिस की एक टीम ने जालना के १८ पुलिस स्टेशनों से संपर्क किया, ताकि यह पता लगाया जा सके कि लड़के का अपहरण किया गया था या नहीं? उस वक्त पुलिस को पता चला कि कदीम पुलिस में उसके अपहरण का एक मामला दर्ज है। पुलिस ने जांच अधिकारी का मोबाइल नंबर लिया और लड़के के माता-पिता से संपर्क किया। पुलिस ने वीडियो कॉल के आधार पर माता-पिता की पहचान की। कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद बच्चे को उसके माता-पिता को सौंप दिया गया।

जालना से कल्याण की यात्रा
लड़का जालना के शास्त्री नगर इलाके में रहता है। वह ५ मार्च को स्कूल के पास क्रिकेट खेलने गया था। घर लौटने में बहुत देर हो चुकी थी। वह अपनी मां की नाराजगी से बचने के लिए घर ही नहीं आया। वह सीधे जालना रेलवे स्टेशन गया। फिर उसने मुंबई की ओर जा रही एक लंबी दूरी की ट्रेन पकड़ी। वह कल्याण रेलवे स्टेशन पर उतरा। कुछ यात्रियों ने उसे अकेले चलते देखा तो यात्रियों ने उसे रेलवे पुलिस के हवाले कर दिया।

अन्य समाचार