मुख्यपृष्ठसमाचारमाफियाओं का नकलची राज; वरुण हुए नाराज!

माफियाओं का नकलची राज; वरुण हुए नाराज!

सामना संवाददाता / लखनऊ
केंद्र की भाजपा सरकार हो या यूपी की योगी सरकार, जब भी कोई गलत निर्णय लेती है तो उसका सबसे पहला विरोध उसकी ही पार्टी के सांसद वरुण गांधी करते हैं। यूपी की पीलीभीत लोकसभा सीट से सांसद वरुण गांधी ने एक बार फिर अपनी ही पार्टी की सरकार पर प्रहार किया है। उन्‍होंने समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखि‍लेश यादव के सुर में सुर मि‍लाते हुए रविवार को आयोजित राजस्व लेखपाल भर्ती २०२२ की मुख्य परीक्षा में नकल कराने और पेपर लीक होने का वीडियो सोशल मीडिया में शेयर किया है। यूपी में माफियाओं के नकलची राज से वरुण गांधी बहुत नाराज हैं। रवि‍वार को ही सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने आरोप लगाते हुए राज्‍य की योगी आदि‍त्‍यनाथ सरकार को घेरा था।
इससे पहले भी भाजपा सांसद वरुण गांधी कई बार अपनी ही पार्टी की सरकार को निशाना बना चुके हैं। सोमवार को उन्‍होंने एक बार फिर अपने आधिकारि‍क ट्विटर अकाउंट से यूपी की योगी सरकार से सवाल पूछते हुए कहा, `यूपी पुलिस, यूपीपीसीएल, यूपीएसएससी, नलकूप  ऑपरेटर, पीईटी, यूपीटीईटी, बीएड, नीट आदि परीक्षा में पेपर लीक का मामला सामने आने के बाद अब राजस्व लेखपाल की परीक्षा में नकल माफिया छाए रहे। आखिर कब तक संगठित शिक्षा माफिया युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करता रहेगा? यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है!’
बता दें कि भाजपा सांसद से पहले यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी इस पूरे मामले में राज्य की भाजपा सरकार को घेरा था। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, `आज लेखपाल भर्ती परीक्षा का पेपर भी लीक हो गया। अब तो लगता है कि अभ्यर्थियों का ये आरोप सच है कि ये सब भाजपा सरकार की ही चाल है, जिससे कोई भी परीक्षा पूरी न हो पाए और लोगों को नौकरी न मिले, जिससे युवा, पूंंजीपतियों के यहां श्रमिक-चपरासी बन के रह जाएं। भाजपा वेतन-पेंशन के खिलाफ है।’

अन्य समाचार