मुख्यपृष्ठनए समाचारईडी सरकार ने कर दिया खेला... आघाड़ी सरकार का पलटा फैसला!

ईडी सरकार ने कर दिया खेला… आघाड़ी सरकार का पलटा फैसला!

• मनपा वॉर्ड को घटाकर फिर किया २२७
• मविआ सरकार ने मुंबई मनपा के सदस्यों की संख्या बढ़ाकर की थी २३६

सामना संवाददाता / मुंबई
महाराष्ट्र की `ईडी’ सरकार ने मुंबई महानगरपालिका सहित कई मनपाओं में सदस्यों की संख्या घटाकर नई राजनीति को अंजाम दिया है। एकनाथ-देवेंद्र सरकार ने जनसंख्या का हवाला देते हुए मुंबई सहित कुछ मनपाओं के सदस्यों की संख्या घटाकर पूर्ववत कर दी है। देश की सबसे बड़ी मुंबई महानगरपालिका में प्रभाग रचना के अनुसार निर्धारित किए गए २३६ नगरसेवकों की संख्या घटाकर फिर २२७ करने का निर्णय लिया गया है।

कल हुई मंत्रिमंडल की बैठक में इसमें संशोधन का निर्णय लिया गया। इसके अलावा नौ और पैâसले लिए गए। नए पैâसले के अनुसार तीन लाख से अधिक और छह लाख तक जनसंख्या वाले मनपा क्षेत्र में चुनकर आनेवाले सदस्यों की न्यूनतम संख्या ६५ तो अधिकतम संख्या ८५ होगी। तीन लाख से अधिक आबादी वाले क्षेत्र में प्रत्येक १५ हजार जनसंख्या के लिए एक अतिरिक्त मनपा सदस्य का प्रावधान किया जाएगा। छह लाख से १२ लाख तक की जनसंख्या वाली मनपा में चुनकर आनेवाले सदस्यों की न्यूनतम संख्या ८५ तो अधिकतम संख्या ११५ होगी। छह लाख से अधिक प्रत्येक २० हजार जनसंख्या के लिए एक अतिरिक्त मनपा सदस्य का प्रावधान किया जाएगा। बारह लाख से अधिक प्रत्येक ४० हजार जनसंख्या के लिए एक अतिरिक्त मनपा सदस्य का प्रावधान किया जाएगा। इसी तरह २४ लाख से अधिक प्रत्येक ५० हजार जनसंख्या के लिए एक अतिरिक्त मनपा सदस्य का प्रावधान किया जाएगा। तीस लाख से अधिक प्रत्येक एक लाख जनसंख्या पर एक अतिरिक्त मनपा सदस्य का प्रावधान किया जाएगा।
सदस्यों की न्यूनतम एवं अधिकतम संख्या
निर्णयानुसार १२ लाख से २४ लाख जनसंख्या वाले मनपा में चुनकर आए सदस्यों की न्यूनतम संख्या ११५ तो अधिकतम संख्या १५१ होगी। २४ लाख से ३० लाख तक जनसंख्या वाले मनपा में चुनकर आए सदस्यों की न्यूनतम संख्या १५१ और अधिकतम संख्या १६१ होगी। ३० लाख से अधिक जनसंख्या वाली मनपा में चुनकर आए सदस्यों की न्यूनतम संख्या १६१ और अधिकतम संख्या १७५ होगी।

अन्य समाचार