मुख्यपृष्ठनए समाचारचुनाव कराने से डरती है ‘ईडी’ सरकार! ...राज्य में ८७ फीसदी जनता...

चुनाव कराने से डरती है ‘ईडी’ सरकार! …राज्य में ८७ फीसदी जनता का मत-आदित्य ठाकरे का ट्विटर सर्वे

सामना संवाददाता / मुंबई
शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता, विधायक आदित्य ठाकरे ने मुंबई विश्वविद्यालय सीनेट चुनाव के स्थगित होने के बाद राज्य की जनता से गद्दार सरकार के बारे में सवाल पूछे थे। क्या यह सरकार सीनेट चुनाव होने देगी? इस सवाल का ८७ फीसदी लोगों ने नकारात्मक जवाब दिया है। इससे यह साबित हो गया है कि गद्दार सरकार डरी हुई है।
गद्दार सरकार द्वारा मुंबई विश्वविद्यालय का सीनेट चुनाव अचानक स्थगित कर दिया गया है। इससे युवासेना के साथ-साथ तमाम छात्र संगठनों में काफी आक्रोश व्याप्त है। इस पैâसले को लेकर आदित्य ठाकरे ने भी गद्दार शिंदे सरकार की आलोचना की है। उन्होंने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर राज्य की जनता से दो सवाल पूछकर जनता की राय जानने की भी कोशिश की थी। आदित्य ठाकरे ने ट्विटर पर एक सवाल पोस्ट कर पूछा था कि क्या मिंधे-भाजपा सरकार १० सितंबर को मुंबई विश्वविद्यालय के सीनेट चुनाव की अनुमति देगी और उस सवाल के दो वैकल्पिक उत्तर दिए थे ‘हां’ या ‘नहीं, सरकार डरी हुई है’। सिर्फ १३ फीसदी लोगों ने जवाब में ‘हां’ चुना, जबकि छह गुना ज्यादा लोगों ने जवाब में ‘नहीं, सरकार डरी हुई है’ को चुना है।

गद्दार शिंदे-भाजपा सरकार महाराष्ट्र द्वेषियों की डरपोक सरकार है!
आदित्य ठाकरे ने ट्विटर पर कल राज्य सरकार को डरपोक बताते हुए यह पोस्ट किया है। उन्होंने कहा कि जनता की राय स्पष्ट है कि गद्दार शिंदे-भाजपा सरकार चुनाव कराने से डर रही है! मुंबईकरों पर अन्याय जारी! आदित्य ठाकरे ने हमला बोलते हुए यह भी कहा कि असंवैधानिक सरकार महाराष्ट्र विरोधी कायर सरकार है।

अन्य समाचार