मुख्यपृष्ठनए समाचारआघाडी सरकार के फैसले पर ईडी सरकार ने लगाई मुहर! ...आरे मिल्क...

आघाडी सरकार के फैसले पर ईडी सरकार ने लगाई मुहर! …आरे मिल्क कॉलोनी की १३२ हेक्टेयर जमीन औपचारिक रूप से ग्रीन जोन घोषित!

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई की आरे कॉलोनी को ग्रीन जोन के लिए तत्कालीन महाविकास आघाड़ी सरकार ने तीन साल पहले इस संदर्भ में पैâसला लिया था। तत्कालीन उद्धव ठाकरे सरकार ने जंगलों के लिए ७०५ एकड़ जमीन आरक्षित की थी। राज्य की ईडी सरकार ने आखिरकार आघाड़ी सरकार के उक्त पैâसले पर औपचारिक रूप से मुहर लगा दी है। आरे मिल्क कॉलोनी में १३२ हेक्टेयर (लगभग ३२६ एकड़) भूमि को हरित क्षेत्र घोषित कर दिया है। इससे अब पूरा आरे इलाका ग्रीन जोन में आ गया है। आरे में विकास कार्यों के लिए जगह दिए जाने को लेकर चल रहे संशय पर से पर्दा उठने की संभावना जताई जा रही है। मतलब मुंबई का आरे इलाका अब ग्रीन जोन में रहेगा। इसलिए पर्यावरणविदों ने इसका स्वागत किया है। इस संदर्भ में नगर विकास विभाग ने पिछले सप्ताह एक परिपत्र जारी किया है। बता दें कि महाविकास आघाड़ी सरकार ने तीन साल पहले इस संदर्भ में पैâसला लिया था। तत्कालीन उद्धव ठाकरे सरकार ने जंगलों के लिए ७०५ एकड़ जमीन आरक्षित की थी। ग्रीन जोन में ली गई १३२ हेक्टेयर भूमि राजीव गांधी राष्ट्रीय उद्यान के इको-सेंसिटिव जोन के अंतर्गत आती है। १६६ हेक्टेयर में से ३३ हेक्टेयर भूमि का उपयोग मेट्रो -३ कारशेड के लिए किया गया है। आरे मिल्क कॉलोनी गोरेगांव उपनगर का एक हिस्सा है। राज्य सरकार ने अब सभी आरे दूध कॉलोनियों को ग्रीन जोन घोषित कर दिया है। पर्यावरण कार्यकर्ता इस क्षेत्र की सुरक्षा की मांग कर रहे थे। कुछ साल पहले इसके लिए बड़ा आंदोलन भी किया गया था। इस संबंध में अधिसूचना पिछले सप्ताह घोषित की गई है। १३२ हेक्टेयर भूमि को ग्रीन जोन भी घोषित किया गया है।

अन्य समाचार