मुख्यपृष्ठनए समाचारमोबाइल चलाने को घर वालों ने किया मना, एक हफ्ते बाद मिला...

मोबाइल चलाने को घर वालों ने किया मना, एक हफ्ते बाद मिला लड़की का शव…

पनवेल / गोविंद पाल

पनवेल तालुका पुलिस स्टेशन के अंतर्गत कासारभाट गांव में रहने वाली एक 20 वर्षीया लड़की को घर के सदस्यों ने डांट क्या लगाई वह गुस्से में घर छोड़कर चली गई और एक हफ्ते बाद उसका शव अरब सागर से सटे पातालगंगा नदी के गहरे पानी से बरामद हुआ।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक, कासारभाट गांव की रहने वाली 20 वर्षीया लड़की को उसके परिवार के सदस्यों ने मोबाइल फोन ज्यादा इस्तेमाल करने को लेकर डांट लगाई थी, जिससे नाराज होकर लड़की 23 अगस्त की दोपहर घर से बाहर चली गई थी। परंतु देर रात तक जब वह घर नहीं लौटी तो उसके परिजनों ने पुलिस स्टेशन पहुंचकर लापता होने की शिकायत की, परंतु सात दिन बाद लड़की तो लौटकर नहीं आई लेकिन उसका शव जरूर घर पर आया! बुधवार की रात मछली पकड़ने के दौरान एक मछुआरे को गहरे पानी में उसका शव तैरता हुआ दिखाई दिया, तो उसने पेण तालुका के अंतर्गत आने वाले दादर सागरी पुलिस स्टेशन को सूचित किया और मामले की जानकारी दी।
पुलिस निरीक्षक अजीत गोले अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचकर नाव की मदद से शव को बाहर निकाला। कपड़े की वजह से शव की पहचान की गई। अब चर्चा यह शुरू हो गई है कि घरवालों को बच्चों की गलतियों पर डांट लगाना भी खतरनाक साबित होने लगा है।

अन्य समाचार