मुख्यपृष्ठसमाचार२ मई को शुरू होगा समृद्धि महामार्ग का पहला चरण

२ मई को शुरू होगा समृद्धि महामार्ग का पहला चरण

• नागपुर से सेलू तक है २१० किमी का पहला हिस्सा
• एडवांस तकनीकी का हुआ है इस्तेमाल
• वाहनचालकों को होगा स्मूथ ड्राइव का अनुभव
सामना संवाददाता / मुंबई । मुंबई से नागपुर के बीच बन रहे ७०१ किमी लंबे हिंदूहृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे समृद्धि महामार्ग के पहले चरण का उद्घाटन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे करेंगे। नागपुर से सेलू बाजार के बीच २१० किमी समृद्धि मार्ग का पहला हिस्सा यातायात के लिए २ मई से उद्घाटन के बाद खोल दिया जाएगा। यह जानकारी कल नगर विकास व सार्वजनिक उपक्रम मंत्री एकनाथ शिंदे ने दी। एकनाथ शिंदे कल हिंदूहृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे समृद्धि महामार्ग के पहले चरण के अंतर्गत हुए काम का जायजा लेने नागपुर पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि पहला चरण शुरू होने के बाद नागपुर से शिर्डी दूसरा चरण अगस्त तक शुरू कर दिया जाएगा जबकि इस परियोजना का पूरा कॉरिडोर मुंबई से नागपुर तक दिसंबर २०२३ से पहले शुरू करने का लक्ष्य है।
सरपट दौड़ेंगे वाहन
मुंबई से नागपुर के बीच बन रहे समृद्धि महामार्ग को १२० से १५० किमी प्रति घंटे की रफ्तार से वाहनों को चलाने के लिए डिजाइन किया गया है। एकनाथ शिंदे ने बताया की समृद्धि महामार्ग पर १२० किमी प्रति घंटा की रफ्तार से वाहनों को चलाने को अनुमति मिली है। उन्होंने कल समृद्धि महामार्ग पर खुद अपनी कार चलाकर ट्रायल लिया। उन्होंने बताया कि १२० किमी प्रति घंटे की रफ्तार से वाहन चलाने के बावजूद लग रहा था जैसे ६० किमी प्रति घंटे की रफ्तार से कार दौड़ रही है। इस कॉरिडोर को तैयार करने के लिए एडवांस तकनीक का उपयोग किया गया है, जो वाहन चालकों को स्मूथ ड्राइव का अनुभव देगा।
वाइल्ड लाइफ संरक्षण पर खर्च हुए `३०० करोड़
वाइल्ड लाइफ संरक्षण को ध्यान में रखते हुए वन्य जीवों को जंगल का फील आए इसलिए ८ ओवर पास और ६० अंडर पास ब्रिज बनाए गए हैं। समृद्धि महामार्ग पर आने वाले जंगलों से वन्य जीव क्रॉसिंग करते हैं इसलिए यहां पर ओवर पास बनाया गया है। इसके लिए ३०० करोड़ रुपए वाइल्ड लाइफ संरक्षण के लिए खर्च हुए हैं।
एयर एंबुलेंस की होगी व्यवस्था
समृद्धि महामार्ग पर कुल २४ इंटरचेंज है, जहां दुर्घटना होने पर गोल्डन आवर में घायल को अस्पताल पहुंचाने के लिए क्विक रिस्पॉन्स व्हिकल की व्यवस्था की जाएगी। इतना ही नहीं, एयर एंबुलेंस की व्यवस्था के लिए यहां पर हेलीपैड की व्यवस्था पर भी विचार किया जा रहा है। घायलों का समय पर इलाज हो, इसके लिए १०० से अधिक अस्पतालों के साथ समझौता किया जा रहा है।
जितना चलोगे उतना भरना होगा टोल
हिंदूहृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे समृद्धि महामार्ग की एक खासियत यह भी होगी कि इस मार्ग से सफर करनेवालों को उतना ही टोल चुकाना होगा, जितना सफर वाहन चालक कॉरिडोर पर तय करेंगे। वाहन चालक से इंट्री प्वाइंट पर टोल नहीं वसूला जाएगा बल्कि जब वाहन चालक अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचकर इंटर चेंज से बाहर निकलेगा, तब वहां मौजूद टोल प्लाजा उतनी दूरी के टोल वसूल लेगा। समृद्धि मार्ग पर वाहन चालकों को १.७२ रुपए प्रति किमी का खर्च आएगा। जबकि मुंबई से नागपुर का सफर ७ घंटे में तय करना संभव हो जाएगा।

अन्य समाचार