मुख्यपृष्ठनए समाचारदिवंगत कारसेवक के घर पहुंचे राम जन्मभूमि ट्रस्ट के महासचिव, कहा कारसेवकों...

दिवंगत कारसेवक के घर पहुंचे राम जन्मभूमि ट्रस्ट के महासचिव, कहा कारसेवकों के त्याग और बलिदान से बन रहा भव्य राम मंदिर

उमेश गुप्ता / वाराणसी। अयोध्या में राम मंदिर का 22 जनवरी 2024 को लोकार्पण होना है। इसके लिए शासन स्तर पर तैयारियां चल रही हैं। इसी बीच दिवंगत कारसेवक गौरीशंकर चौधरी के मच्छोदरी स्थित आवास पर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय पहुंचे। उन्होंने उनके परिजनों को राम मंदिर के लोकार्पण कार्यक्रम में आने का निमंत्रण दिया।

चंपत राय ने कहा कि अयोध्या में भगवान राम का मंदिर कारसेवकों के त्याग और बलिदान का परिणाम है। आज इसी की देन है कि रामलला अपने स्थान पर भव्य मंदिर में विराजमान हो रहे हैं।

गौरतलब है कि वाराणसी के रहनेवाले कारसेवक गौरी शंकर चौधरी विश्व हिंदू परिषद के आवाहन पर 29 अक्टूबर 1990 को कारसेवा के लिए अयोध्या निकले थे। रास्ते में पुलिस प्रशासन द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया तथा तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निर्देश पर उन्हें जेल में डाला गया। जहां उनकी दुखद मृत्यु  हो गई।

गौरी शंकर चौधरी की स्मृति में वाराणसी नगर निगम के ओर से 16 अगस्त 1997 को पूर्ण बहुमत द्वारा विशेश्वरगंज मच्छोदरी पार्क के सड़क का नामकरण किया गया। चंपत राय का स्वागत कार सेवक गौरी शंकर चौधरी के बड़े भाई उमाशंकर चौधरी तथा उनके परिवार के अन्य सदस्यों अजय चौधरी, विजय चौधरी, विवेक चौधरी, जितेंद्र चौधरी, विकास चौधरी एवं राष्ट्रवादी सौरभ, चंद्रभूषण प्रसाद, नीरज अग्रहरि, आनंद अग्रवाल, नवीन श्रीवास्तव, श्रीनिवास देव, गजानन वैदिक आदि लोगों ने किया।

अन्य समाचार