मुख्यपृष्ठनए समाचारपर्यावरणविदों की मेहनत लाई रंग ...और ३९० पेड़ों को मिला जीवनदान!

पर्यावरणविदों की मेहनत लाई रंग …और ३९० पेड़ों को मिला जीवनदान!

• पाम बीच रोड पर प्रस्तावित फ्लाईओवर रद्द
• नई मुंबईकरों में खुशी की लहर
सामना संवाददाता / नई मुंबई
नई मुंबईकर और पर्यावरणविदों के विरोध के चलते नई मुंबई महानगरपालिका ने वाशी में पाम बीच रोड पर प्रस्तावित फ्लाईओवर को रद्द कर दिया है। इस परियोजना के रद्द होने से ३९० पेड़ों को जीवनदान मिल गया है। इससे नई मुंबईकर काफी खुश हैं। इस परियोजना के तहत वाशी के सेक्टर १७ में अरेंजा कॉर्नर से वाशी के कोपरी गांव तक फ्लाईओवर बनाने के लिए ३८४ पेड़ों को स्थानांतरित करने और ६ पेड़ों को काटने की योजना थी।
पर्यावरण प्रेमी एनजीओ `सामने’ के सुकुमार किलेदार कहते हैं, `एक पौधे को विकसित होने में २० साल लगते हैं और सिर्फ एक फ्लाईओवर के लिए ३००-४०० पेड़ों को काटना कहां का इंसाफ है नेचर के साथ? सायन-पनवेल हाईवे के लिए भी कितने पेड़ काटे गए, उसके बदले कितने पेड़ लगाए गए हैं, किसी के पास जवाब नहीं है।’
जितेंद्र आव्हाड ने भी किया था विरोध
महाराष्ट्र के तत्कालीन आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने भी इस परियोजना का विरोध किया था और तत्कालीन नई मुंबई महानगरपालिका आयुक्त अभिजीत बांगर से मिलकर इस परियोजना के लिए दोबारा लगाए जाने वाले या काटे जाने वाले पेड़ों की संख्या पर चिंता जताई थी। प्रशासन का मानना था कि ३५० करोड़ की लागत से बनने वाले इस फ्लाईओवर से विशेष रूप से वाशी के सेक्टर १७ में अरेंजा कॉर्नर पर ट्रैफिक कम हो जाएगा।

अन्य समाचार