मुख्यपृष्ठविश्वयूक्रेन पर हमले का २५वां दिन... रूसी सेना का कहर!

यूक्रेन पर हमले का २५वां दिन… रूसी सेना का कहर!

•  स्कूल में शरण लिए हुए ४०० यूक्रेनी मलबे में दबे
• जंग में तबाह हो गया यूरोप का सबसे बड़ा स्टील प्लांट

एजेंसी / कीव । रूस-यूक्रेन जंग के २५वेंं दिन रूसी सेना ने मारियुपोल शहर में एक आर्ट स्कूल पर बमबारी कर शरण लिए हुए लगभग ४०० लोगों को मलबे में दबा दिया। इसके पहले यहां एक थिएटर पर बमबारी हुई थी, जहां कम से कम १,००० नागरिकों ने शरण ली थी। रूस ने माइकोलाइव में हाइपरसोनिक मिसाइल किन्झॉल से हमला किया। हाइपरसोनिक मिसाइल से किया गया रूस की तरफ से यह दूसरा हमला है। रूस की डिफेंस मिनिस्ट्री ने कहा कि रूसीr सेना ने दक्षिणी यूक्रेन में एक फ्यूल स्टोरेज तबाह कर दिया है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोमीर जेलेंस्की ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से जंग रोकने के लिए सीधी बातचीत करने की अपील की है। जेलेंस्की ने स्विट्जरलैंड की सरकार से भी रूसी अमीरों का पैसा जब्त करने की अपील की। उन्होंने कहा कि यूरोपीय शहरों में रहकर स्विस बैंक में पैसा रखने वाले रूसी अमीर वहां की सेना को यूक्रेन को तबाह करने के लिए पैसा दे रहे हैं।
बातचीत को तैयार नहीं पुतिन
राष्ट्रपति जेलेंस्की ने वीडियो मैसेज में भले ही मास्को से सीधी बातचीत की अपील की है लेकिन तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप अर्दोआन के चीफ एडवाइजर ने दावा किया है कि पुतिन फिलहाल ऐसी बातचीत के लिए तैयार नहीं है। अर्दोआन के प्रवक्ता की भी भूमिका निभा रहे इब्राहिम कलिन ने कहा कि पुतिन का मानना है कि लीडर्स लेवल पर मीटिंग की पोजिशन फिलहाल नहीं आई है।
अब पूर्व में बढ़ रहा रूस
रिपोर्ट में कहा गया है कि यूक्रेनीr सेनाओं ने रूस को राजधानी कीव, खारकीव और साउथ यूक्रेन के बड़े हिस्से में ठहरने के लिए मजबूर कर दिया है। सैटेलाइट इमेज में भी कीव के बाहर रूसी सेना लंबे समय तक युद्ध करने के लिए पक्का ठिकाना तैयार करती दिखी है। रिपोर्ट में इसके लिए रूसी सेना की सप्लाई चेन के बिखरने को कारण बताया गया है। हालांकि रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पूर्वी यूक्रेन में रूसी सेनाएं अब तेजी से आगे बढ़ रही हैं। यहां रूसी सेनाओं ने विद्रोहियों के कब्जे वाले पश्चिमी यूक्रेन के डोनबास इलाके से मूव किया है।

अन्य समाचार