मुख्यपृष्ठनए समाचारमोहब्बत की नगरी में तलाक का तांता! आगरा में एक साल में...

मोहब्बत की नगरी में तलाक का तांता! आगरा में एक साल में दोगुने हुए मामले

  • शक ने बिगाड़ी पति-पत्नी के रिश्ते की सेहत

सामना संवाददाता / आगरा
मोहब्बत की नगरी के नाम से जाना जाने वाला आगरा में एक साल में तलाक के दोगुने मामले हो गए हैं। शक में पति-पत्नी के रिश्ते खराब हो रहे हैं। छोटी-छोटी बातों पर हुए विवाद घरों में नहीं सुलझ पा रहे हैं। आगरा जिले में तलाक चाहने वाले जोड़ों की संख्या बढ़ने से पैâमिली कोर्ट की संख्या भी बढ़ रही है। काउंसलर का कहना है कि सबसे ज्यादा पति-पत्नी के बीच विवाहेत्तर संबंध के शक और खर्चे के लिए पैसे न देने की वजह से तलाक की अर्जी दायर की जा रही हैं। पिछले एक साल की बात करें तो तलाक के मामले दो गुना तक बढ़ गए हैं। परिवार कल्याण विशेषज्ञ व अधिवक्ता प्रमिला शर्मा ने बताया कि पिछले साल २०२१ में जहां हर महीने तलाक की अर्जी देने वालों की संख्या १५ से २० थी, वहीं २०२२ में हर महीने यह बढ़कर ३०-४० तक पहुंच गई है। उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा केस गुजारा भत्ता और विवाहेत्तर संबंध के आ रहे हैं। वर्ष २०१८ में आगरा में केवल एक ही फैमिली कोर्ट था। अब इनकी संख्या चार हो गई है।
कोरोना के बाद बढ़े मामले
नितिन वर्मा एडवोकेट ने बताया कि कोरोना काल के बाद तलाक के मामले तेजी से बढ़े हैं। इनमें अधिकांश मामले खर्चे के लिए कम पैसे दिए जाने के हैं। केस स्टडी से सामने आया है कि खर्चे के लिए पैसे कम मिलने पर झगड़ा होता है। मामला तलाक और कोर्ट तक पहुंच जाता है। मनोचिकित्सक डॉ. दिनेश राठौर ने बताया कि पति-पत्नी में संवाद की कमी से झगड़ा होता है। दोनों के मन में कुंठा पैदा होती है और तलाक तक बात पहुंच जाती है। पति-पत्नी साथ में अधिक समय बिताएं, बातचीत करते रहें।
पति खर्चे के लिए नहीं देता पैसा
जानकारी के अनुसार कमला नगर निवासी युवती की शादी एक साल पहले थाना क्षेत्र के ही रहनेवाले युवक के साथ हुई थी। युवती का कहना है कि पति कोलकाता में नौकरी करता है। खर्चे के लिए पैसे नहीं देता है। मायके नहीं आने देता। इसलिए तलाक की अर्जी दायर की है।
पति का किसी और के साथ है संबंध
एमएम गेट निवासी युवती की शादी मथुरा के रहने वाले युवक के साथ दो साल पहले हुई थी। युवती का आरोप है कि पति के किसी दूसरी महिला से संबंध हैं। विरोध करने पर मारपीट करता है। चार महीने पहले कोर्ट में तलाक के लिए अर्जी दी है।

 

अन्य समाचार