मुख्यपृष्ठसमाचारलोकसभा चुनाव की पेंच जल्द से जल्द होगा दूर!

लोकसभा चुनाव की पेंच जल्द से जल्द होगा दूर!

– शरद पवार और राहुल गांधी के बीच हुई चर्चा

-राकांपा प्रदेशाध्यक्ष जयंत पाटील ने दी जानकारी

सामना संवाददाता / मुंबई

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार और प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील के बीच कल एक अहम बैठक हुई। इस बैठक में पाटील ने पवार से महाराष्ट्र में संगठन को लेकर चर्चा की। इसके साथ ही इस बैठक में लोकसभा सीटों के आवंटन को लेकर भी चर्चा हुई। जयंत पाटील ने कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी दी गई कि पार्टी राज्य में कितनी सीटें जीत सकती है। वे मुंबई में पार्टी कार्यालय के बाहर मीडिया से बातचीत के दौरान उक्त बातें कहीं। जयंत पाटील ने यह भी कहा कि पवार और राहुल गांधी के बीच फोन पर चर्चा हुई है। महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव के मुद्दे को जल्द से जल्द हल कर लिया जाएगा।
राज्य की कानून व्यवस्था हाथ से निकली
महाराष्ट्र में मिलने वाली दवाओं पर बोलते हुए कहा कि महाविकास आघाड़ी सरकार के दौरान नशीली दवाओं की घटनाएं होने पर सरकार को जिम्मेदार ठहराया गया था। पुणे में छापेमारी में नशीली दवाओं का जखीरा मिला तो यह सरकार की जवाबदारी नहीं है क्या? ऐसा सवाल पाटील ने किया। आज महाराष्ट्र में नशीली दवाओं का बोलबाला है और कानून व्यवस्था की स्थिति काफी हद तक नियंत्रण से बाहर चली गई है।
मनोज जरांगे के आंदोलन पर उन्होंने कहा कि जरांगे से अनुरोध किया जाएगा कि वे इस तरह के आंदोलन में सावधानी बरतें, ताकि परीक्षा के दिनों में छात्रों को परीक्षा स्थल तक पहुंचने में कोई बाधा न हो। शरद पवार कभी भी मनोज जरांगे के संपर्क में नहीं आए, वे किसके संपर्क में हैं? मुझे लगता है कि यह बात पूरे महाराष्ट्र को मालूम होगी। मुख्यमंत्री और मनोज जरांगे पाटील के बीच संवाद किस कारण से विफल हो रहा है? मीडिया के इस सवाल पर उन्होंने सुझाव दिया कि सरकार को इसका अध्ययन करके जिम्मेदारी से काम करना चाहिए और इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि ऐसे आंदोलन बार-बार न हों। मंत्रियों के बंगलों पर होने वाले खर्च के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सरकार राजस्व कमाने को लेकर गंभीर नहीं है लेकिन खर्च करने को लेकर मंत्रियों में स्पर्धा चल रही है।

अन्य समाचार