" /> १५ मिनट का होगा ठाणे से बोरीवली का सफर… भूमिगत मार्ग का प्रस्ताव तैयार

१५ मिनट का होगा ठाणे से बोरीवली का सफर… भूमिगत मार्ग का प्रस्ताव तैयार

परियोजना पर होंगे  रु. ११ हजार करोड़ खर्च
१०.५ लाख मीट्रिक टन ईंधन की होगी बचत
सरकारी औपचारिकता की जा रही है पूरी

ठाणे से बोरीवली जाने के लिए वर्तमान समय में करीब ६० मिनट लगते हैं। इस यात्रा के समय में जल्द ही कमी होनेवाली है, ठाणे से बोरीवली भूमिगत मार्ग होने के बाद ठाणे से बोरीवली जानेवाले ठाणेकरों को केवल १५ मिनट लगेंगे, इस सपने को साकार करने के लिए ठाणे जिला के पालक मंत्री व राज्य के नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे प्रयत्नशील हैं। इस मार्ग के लिए सरकारी औपचारिकता पूरी की जा रही है, ऐसी जानकारी नगर विकास विभाग के विश्वस्त सूत्रों ने दी है।
इस मार्ग के पूरा होने के बाद ठाणेकरों सहित मुंबईकरों को फायदा होगा। एकनाथ शिंदे ने ठाणे और बोरीवली को जोड़नेवाले एक भूमिगत मार्ग बनाने की योजना तैयार की है। इस परियोजना की कीमत तकरीबन ११, २३५.४३ करोड़ रुपए है। ठाणे-बोरीवली को जोड़नेवाली दोहरी सुरंग से नागरिकों का सफर तेज होगा। इस मार्ग से घोड़बंदर रोड पर होनेवाले जाम की समस्या का भी समाधान हो जाएगा। इस मार्ग पर संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के तहत १०.२८ किमी लंबी दो से तीन लेन की सुरंग और ११.८ किमी लंबी कनेक्टिंग रोड होगी, जो ठाणे के टिकुजी-नी-वाडी से बोरीवली के पश्चिम एक्सप्रेस-वे तक जाएगी।
प्रोजेक्ट में लगेंगे साढ़े ५ साल
ठाणे-बोरीवली सुरंग के लिए संजय गांधी राष्ट्रीय पार्क की १६.५४ हेक्टेयर निजी भूमि और ४०.४६ हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण करने की आवश्यकता है। मार्च, २०२२ में शुरू होनेवाले इस प्रोजेक्ट में साढ़े पांच साल लगेंगे और इसमें हर ३०० मीटर पर क्रॉस टनल होंगे। यह डिजाइन वाहनों को ८० किलोमीटर प्रति घंटे तक की गति से यात्रा करने की अनुमति देगी। इससे यात्रा का समय ६० मिनट से घटकर १५ से २० मिनट हो जाएगा। इससे समय की बचत होगी और र्इंधन की खपत में १०.५ लाख मीट्रिक टन की कमी आएगी। टनल में ड्रेनेज सिस्टम, स्मोक डिटेक्टर और जेट पैâन जैसी सुविधाएं होंगी। संकरी सुरंग के अंदर की हवा को साफ और ताजा रखने के लिए विशेष उपाय किए जाएंगे।