मुख्यपृष्ठनए समाचारमनोरोगियों का है खयाल सुधरेगा मरीजों का हाल!

मनोरोगियों का है खयाल सुधरेगा मरीजों का हाल!

• १० तरह की खरीदी जाएंगी दवाइयां • राज्य सरकार ने दी मंजूरी
धीरेंद्र उपाध्याय / मुंबई । महाराष्ट्र में मनोरोगियों का राज्य सरकार विशेष खयाल रख रही है। इसके तहत प्रदेश के चार मनोचिकित्सालय में भर्ती मरीजों के इलाज के लिए बड़े पैमाने पर दवाइयों को खरीदा जा रहा है। राज्य के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक १० तरह की साइकेट्रिक दवाइयों में इंजेक्शन का भी समावेश है। फिलहाल इसे राज्य सरकार की तरफ से प्रशासनिक मंजूरी मिल गई है। जल्द ही दवाइयों की खरीदी प्रक्रिया पूरी कर उसे मनोचिकित्सालयों में उपलब्ध कराई जाएंगी। मतलब मरीजों का हाल सुधरेगा।
जल्द शुरू होगी टेंडरिंग प्रक्रिया
स्वास्थ्य विभाग के सह सचिव वीएल लहाने के मुताबिक साइकेट्रिक से संबंधित बीमारियों में लगने वाली १० तरह की दवाइयों की कुल ६०,२४,५०० स्ट्रिप और २०० इंजेक्शन खरीदे जाएंगे। इन दवाइयों की खरीदारी के लिए ५६,३९,९६५ रुपए निधि की प्रशासनिक मंजूरी मिल गई है। इसे लेकर जल्द ही टेंडरिंग प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। टेंडरिंग प्रक्रिया के पूरा होते ही मनोरोगियों के इलाज में इस्तेमाल होनेवाली दवाइयों को खरीद उन्हें ठाणे, पुणे, नागपुर और रत्नागिरी प्रादेशिक मनोचिकित्सालयों में उपलब्ध करा दिया जाएगा।
टीबी पर भी मात
राज्य सरकार का स्वास्थ्य विभाग टीबी रोग पर मात देने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहा है। इसके तहत विभाग की तरफ से पर्याप्त दवाइयों और दवा-प्रयोगशाला के लिए जरूरी सामान आदि की खरीददारी के लिए १,३२,१३,३५० रुपए के निधि की प्रशासनिक मंजूरी मिल गई है। लहाने के मुताबिक इसे लेकर भी जल्द निविदा प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। खरीदे जानेवाले सभी सामानों और दवाइयों का भंडारण और आपूर्ति करना, सप्लाई चेन मैनेजमेंट, इन्वेंट्री मैनेजमेंट को उचित तरीके से लागू किया जाएगा।
स्वस्थ दांत पर जोर
अपर सचिव महादेव जोगदंड के मुताबिक प्रदेश में लोगों के दांतों को स्वस्थ रखने पर जोर दिया जा रहा है। इसके लिए स्वास्थ्य, शिक्षा व औषधि विभाग ने दांतों से संबंधित बीमारियों का इलाज करने के लिए ११ प्रकार की दवाइयों और सामानों को खरीदने का निर्णय लिया है। १४३,८६,८१,८८९ रुपए की निधि का प्रावधान किया गया है, जिसे मंजूरी मिल गई है।

अन्य समाचार