मुख्यपृष्ठअपराधकुत्ते की इंसानियत! ... एक दिन की मासूम को फेंक कर मां...

कुत्ते की इंसानियत! … एक दिन की मासूम को फेंक कर मां हुई फरार

• बेजुबान ने बचाई जान
गोपाल गुप्ता / मुंबई
पालघर जिले के नालासोपारा में एक ऐसी घटना घटी, जिसे सुनकर आप दिल थाम लेंगे। बुधवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे एक कलियुगी मां अपनी एक दिन की बच्ची को टेंपो में मरने के लिए छोड़कर फरार हो गई। मगर उस मासूम को एक कुत्ते की इंसानियत ने बचा लिया। पुलिस ने मासूम बच्ची को उपचार के लिए वसई-विरार मनपा अस्पताल में भर्ती कराया है। फिलहाल पुलिस कलियुगी मां की तलाश में जुट गई है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक नालासोपारा शहर में रहने वाला एक व्यक्ति प्रतिदिन की तरह सुबह करीब साढे पांच अपने कुत्ते को लेकर मॉर्निंग वॉक के लिए निकला था, तभी कुत्ता टेंपो के करीब शौच के लिए रुक गया। इस दौरान वह सूंघते हुए टेंपो के भीतर घुस गया। जहां बच्ची को एक प्लास्टिक में छुपाकर फेंका गया था। इसके बाद कुत्ता मालिक को देखकर जोर-जोर से भौंकने लगा। उसकी आवाज सुनकर मालिक जब कुत्ते के पास पहुंचा तो उसकी नजर मासूम बच्ची पर गई। इसके बाद उसने पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस की टीम ने बच्ची की जांच की तो उसकी सांसें चल रही थीं। पुलिस ने बच्ची को देखभाल और इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया है। फिलहाल तुलिंज पुलिस कलियुगी माता की तलाश में शहर के सीसीटीवी वैâमरों की फुटेज के अलावा पिछले एक सप्ताह में जन्म देनेवाली महिलाओं की जानकारी के लिए अस्पतालों को खंगालने में जुट गई है।

वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र कांबले ने बताया कि एक राहगीर ने पुलिस को सूचना दी थी कि अंबावाड़ी स्थित एक टेंपो में एक नवजात बच्ची को रखा है। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मासूम को अस्पताल में भेज दिया है।

अन्य समाचार