मुख्यपृष्ठखबरेंप्रदेश में नहीं थम रहा आई फ्लू का प्रकोप, मरीजों की संख्या चार लाख...

प्रदेश में नहीं थम रहा आई फ्लू का प्रकोप, मरीजों की संख्या चार लाख के करीब! संक्रमण से बचने के लिए बार-बार धोएं हाथ

सामना संवाददाता / मुंबई
महाराष्ट्र में ‘आई फ्लू’ के मरीज लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इस बीमारी का प्रकोप थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। राज्य के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, मुंबई, बुलढाणा और पुणे समेत राज्य के विभिन्न जिलों में आई फ्लू नामक बीमारी से पीड़ित मरीजों की संख्या ३ लाख ५७ हजार २६५ हो गई है। बीमारी की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बार-बार हाथ धोने, व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने और डॉक्टरों की सलाह के अनुसार उचित उपचार लेने की अपील की है।
उल्लेखनीय है कि जिन क्षेत्रों में आई फ्लू संक्रमण फैल रहा है, वहां स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर सर्वे किया जा रहा है। सभी जिलों के लिए स्वास्थ्य शिक्षा का प्रोटोटाइप तैयार कर लिया गया है। आई फ्लू प्रकोप वाले क्षेत्रों में स्कूली बच्चों की जांच और इलाज किया जा रहा है। सभी स्वास्थ्य संस्थानों में बीमारियों के इलाज के लिए आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराई गई हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और राज्य की रैपिड रिस्पांस टीम ने आलंदी में आई फ्लू के फैलने की जांच की है।
आई फ्लू होने का कारण
आई फ्लू मुख्य रूप से एडीनो वायरस के कारण होता है। यह एक हल्का संक्रमण है। आमतौर पर इसके शिकार रोगी की आंखों का लाल होना, बार-बार पानी निकलना, आंखों में सूजन जैसे लक्षण दिखते हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, आंख आने के बाद मरीज को चाहिए कि वह खुद को घर पर ही आइसोलेट कर ले। यह बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैलती है। इसलिए इस बीमारी से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग ने सावधानी बरतने की अपील की है।
इन जिलों में है आई फ्लू का प्रकोप
आई फ्लू के सबसे अधिक ४४,३९८ मरीज बुलढाणा जिले में मिले हैं। इसके बाद पुणे में ४०,७७४, नांदेड में २७,७५१, जलगांव में २२,४१७, चंद्रपूर में १५,७७७, अमरावती में १४,७३८, परभणी में १४,७८०, अकोला में १३,९३८, धुले में १४,३३८, वर्धा में ११,३०३, नंदुरबार में १०,२९४, भंडारा में १०,०५४, वाशिम में ९,४५८, यवतमाल में ९,४४१, मालेगांव में ८,६५५, लातूर में ७,५९४, संभाजीनगर में ११,४८२, गोंदिया में ६,५३२, जालना में ६,५०६, हिंगोली में ५,७८०, नासिक में ८,७५८, नगर में ५,२१५, कोल्हापुर में ४,७७६, नागपुर में ७,६८३, सोलापुर में ४,६८८, मुंबई में २,८६२, गढ़चिरौली में २,७९६, पालघर में २,१०७, धाराशिव में १,९१०, सांगली में ३,३८८, बीड में १,६६६, सातारा में १,५३८, ठाणे में १,७०९, रायगड में १,१४०, सिंधुदुर्ग ६७९ और रत्नागिरी २२२ आई फ्लू के मरीज पाए गए हैं।

अन्य समाचार