मुख्यपृष्ठनए समाचारपैगंबर विवाद का पाक कनेक्शन! ट्विटर अकाउंट्स से रची हिंसा की...

पैगंबर विवाद का पाक कनेक्शन! ट्विटर अकाउंट्स से रची हिंसा की साजिश

फेंक न्यूज से मुसलमानों को भड़काया

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए नूपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद देश के कई शहरों में हिंसा हुई। इस हिंसा को भड़काने के पीछे अब पाकिस्तान का हाथ भी सामने आ रहा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि पाकिस्तान के करीब ७ हजार से ज्यादा ट्विटर अकाउंट फेंक  न्यूज के सहारे हिंदुस्थान में मुसलमानों को भड़काकर दंगे की साजिश रच रहे थे।
सोशल मीडिया के जरिए फैला  रहा है हिंसा
सोशल मीडिया पर इस विवाद और हिंसा से जुड़े जो भी हैशटैग चल रहे हैं, उसमें कमेंट करनेवाले ज्यादातर पाकिस्तान के यूजर्स हैं। यानी पाकिस्तान इस मामले में भारतीय मुसलमानों को भड़काने में लगा है। डिजिटल फोरेंसिक रिसर्च एंड एनालिटिक्स सेंटर यानी डीएफआरएसी की नई रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। इनमें से करीब ७,१०० लोग पाकिस्तान के थे। साफ है कि पैगंबर विवाद से जुड़े हैशटैग को पाकिस्तान के ट्विटर अकाउंट्स से भी आगे बढ़ाया जा रहा है। वहीं ३,००० अकाउंट्स सऊदी अरब से थे। १,४०० मिस्र से और १,००० से अधिक अमेरिका और कुवैत से थे।
नफरत फैलाकर मुस्लिमों को भड़काया
ईरान और कतर जैसे देशों ने पैगंबर मोहम्मद पर की गई टिप्पणी पर हिंदुस्थान की कार्रवाई के बाद स्टेटमेंट जारी कर संतुष्टि जताई। इसके बावजूद कुछ लोग मुस्लिमों को भड़काने में लगे हैं। रिपोर्ट में ऐसे ही नफरत फैलानेवाले तत्वों का भी खुलासा किया गया है। इनमें प्रमुख नाम खालिद बेदौन, मोइनुद्दीन इब्र नसरुल्ला और अली सोहराब जैसे लोगों के हैं। नूपुर शर्मा के बयान के बाद पूरे देश में होनेवाली हिंसा के लिए सोशल मीडिया को जिम्मेदार माना जा रहा है।
पाक रचता रहा है साजिश
इससे पहले भी हिंदुस्थान में इस तरह के प्रोपोगैंडा को फैलाने  में पाकिस्तान का नाम सामने आता रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक  ने लोकसभा चुनाव २०१९ के दौरान इस बात का खुलासा किया था कि किस तरह से पाकिस्तानी लोग तब चुनाव को प्रभावित कर रहे थे।

अन्य समाचार