मुख्यपृष्ठनए समाचारपूरे देश की जनता ‘इंडिया' के साथ ... शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख...

पूरे देश की जनता ‘इंडिया’ के साथ … शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे का दृढ़ विश्वास

सामना संवाददाता / मुंबई
आने वाले अगले ५० साल कैसे होंगे, यह हम देख रहे हैं। हमारे देश में पिछले ७५ सालों में हमारा लोकतंत्र, संविधान जिस तरह से होना चाहिए था उस तरह टिका रहा, लेकिन उस लोकतंत्र को पिछले ९ से १० सालों में झटका/धक्का लगता चला गया। उस लोकतंत्र को हमें संभाल कर रखना है इसलिए यह ‘इंडिया’ की लड़ाई है और देश की सारी जनता ‘इंडिया’ के साथ आ रही है, ऐसा दृढ़ विश्वास शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने व्यक्त किया। वह ग्रैंड हयात में पत्रकारों से बात कर रहे थे।
लोकतंत्र और संविधान बचा रहेगा तो आप और हम सभी बच सकते हैं। इसलिए हम इस देश में तानाशाही नहीं आने देंगे। हम उस तानाशाही के खिलाफ लड़ रहे हैं। तानाशाही की जो एक घटिया मानसिकता है, हम उसके खिलाफ लड़ रहे हैं, ऐसा आदित्य ठाकरे ने कहा।
एनडीए की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, एनडीए से सभी मित्र दलों को बाहर निकाल दिया गया। हम भी एनडीए में थे, हमें भी बाहर निकाल दिया गया। उन्हें ऐसा लगने लगा था कि अब मित्रों की जरूरत नहीं रही, लेकिन अहम बात यह है कि देश की पूरी जनता ‘इंडिया’ के साथ आ रही है, आदित्य ठाकरे ने मुद्दे पर ध्यान आकर्षित किया।

देश को एक साथ रखना है
‘इंडिया’ गठबंधन, जीतेगा भारत, हम ऐसा क्यों कह रहे हैं? इसकी वजह है, हम किसी भी राज्य के हों, कोई भी भाषा बोलते हों, हमें अपना देश एकत्र रखना है। अपने संविधान को बचाकर रखना है। लोकतंत्र को बचाए रखना है, हम इसीलिए लड़ रहे हैं, ऐसा आदित्य ठाकरे ने कहा।

पचास खोकों का खर्च किसने किया, पहले ये बताएं
‘इंडिया’ गठबंधन की मुंबई में हो रही बैठक को मिल रहे प्रचंड प्रतिसाद के चलते विरोधियों के पैरों के नीचे से जमीन खिसकने लगी है। इसीलिए उन्हें ‘इंडिया’ की बैठक पर हुए खर्च की चिंता हो रही है। हालांकि उन्हें ‘इंडिया’ की बैठक पर हुए खर्च का हिसाब मांगने के बदले घातियों के गुवाहाटी, सूरत, चार्टर्ड प्लेन का खर्च और विशेष रूप से ५० खोकों का खर्च किसने किया, पहले वो बताएं। इस तरह का सनसनीखेज तंज शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने कल कसा। ‘इंडिया’ गठबंधन की तीसरी बैठक मुंबई के ग्रैंड हयात होटल में होने के परिप्रेक्ष्य में आदित्य ठाकरे ने मीडिया से संवाद साधते समय घातियों के आरोपों की हवा ही निकाल दी। घातियों ने दशहरा की सभा के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर दिए। दशहरा में हुई सभा के लिए एसटी को १० करोड़ रुपए दिए थे, ये पैसे कहां से आए? वो सरकारी खर्च था या किसी की जेब से आया था? ऐसा सवाल पूछते हुए आदित्य ठाकरे ने घातियों को हिसाब देने की चुनौती दी।

अन्य समाचार

लालमलाल!