मुख्यपृष्ठखेलपेपर के टुकड़े ने नचाया

पेपर के टुकड़े ने नचाया

ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच पर्थ में खेले गए पहले टेस्ट मैच के आखिरी दिन पाकिस्तान की दूसरी पारी के दौरान ग्राउंड पर एक मजेदार घटना देखने को मिली। एक पेपर के टुकड़े ने कंगारुओं को खूब नचाया। दरअसल, जब ऑस्ट्रेलियाई टीम फील्डिंग कर रही थी तो ग्राउंड पर अचानक एक पेपर का टुकड़ा उड़कर आ गया। इस कागज के टुकड़े ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का ध्यान अपनी तरफ खींच लिया और उसके बाद प्लेयर्स उस पेपर को पकड़ने के लिए कड़ी मशक्कत करते नजर आए। पेपर के टुकड़े को पकड़ने के लिए सबसे पहले मार्नस लाबुशेन आगे बढ़े, लेकिन जैसे ही उन्होंने आगे कदम रखा तो हवा के झोंके से वह टुकड़ा उड़ गया। उसके बाद नाथन लियोन ने भी यही कोशिश की। आखिरी में स्टीव स्मिथ ने उस पेपर के टुकड़े को पकड़ लिया और दोनों हाथ उठाकर सेलिब्रेट भी किया। इस फनी मूवमेंट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। स्मिथ ने जैसे ही उस पेपर के टुकड़े को पकड़ा तो ग्राउंड में दर्शकों ने भी जोर-जोर से चिल्लाना शुरू कर दिया। डेविड वॉर्नर ने तो स्मिथ के पास आकर बधाई भी दी।

महंगे मिचेल

आईपीएल २०२४ के लिए मिनी ऑक्शन में आज दोपहर एक बजे से दुबई में ३३३ खिलाड़ियों पर बोली लगेगी। मिनी ऑक्शन से पहले कल एक टीवी चैनल की ओर से एक मॉक ऑक्शन किया गया, जिसमें ऑस्ट्रेलिया के पेसर मिचेल स्टार्वâ सबसे महंगे दामों पर बिके। उन्हें आरसीबी ने १८.५ करोड़ रुपए में अपने पाले में कर लिया है। इसके बाद दूसरे सबसे महंगे खिलाड़ी के तौर पर जेराल्ड कोएत्जी का नाम सामने आया है। उन्हें गुजरात टाइटंस ने १८ करोड़ रुपए में अपने पाले में कर लिया, वहीं पैट कमिंस की बात की जाए तो उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद ने १७.५ करोड़ रुपए में अपने पाले में किया। टॉप ५ की लिस्ट में भारत के केवल शार्दुल ठाकुर ही हैं, जो इसमें जगह बना पाए। उन्हें पंजाब किंग्स ने १४ करोड़ रुपए में लिया। हालांकि ये मॉक ऑक्शन था, लेकिन कुछ ऐसी ही तस्वीर तब नजर आ सकती है, जब असली ऑक्शन होगा।

रिंकू की राह में रोड़ा

भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की शृंखला के दूसरे एकदिवसीय में आज शाम साढ़े चार बजे से मैदान पर उतरेगी। इसके लिए टीम के सामने बेहद प्रतिभाशाली रजत पाटीदार या आकर्षक बल्लेबाजी करने वाले रिंकू सिंह में से किसी एक को डेब्यू करवाने की चुनौती होगी। रिंकू ने पिछले कुछ समय में अपनी बल्लेबाजी से काफी प्रभावित किया है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर टी-२० मैचों में अपनी तकनीक और समझदारी की छाप छोड़ी है। दक्षिण अफ्रीका में उछाल वाली पिचों पर भी उनकी बल्लेबाजी सहज दिखी। फिलहाल, उनकी भूमिका फिनिशर की है, लेकिन उनकी राह में रोड़ा है। चौथे क्रम के बल्लेबाज अय्यर की जगह एकादश में पाटीदार का दावा ज्यादा मजबूत है, क्योंकि घरेलू मैचों में वे मध्य प्रदेश के लिए इसी क्रम पर बल्लेबाजी करते हैं। पाटीदार २०२२ में भी भारतीय वनडे टीम में जगह बनाने में सफल रहे थे, लेकिन उन्हें अंतिम एकादश में मौका नहीं मिला था। इसके बाद एड़ी की सर्जरी के कारण उन्हें एक साल तक संघर्ष करना पड़ा।

अन्य समाचार