मुख्यपृष्ठअपराधफरार अपराधी सिराज की इनाम राशि हुई दुगुनी! ...देहात कोतवाल 'बैक टू...

फरार अपराधी सिराज की इनाम राशि हुई दुगुनी! …देहात कोतवाल ‘बैक टू पैवेलियन’!

– बहुचर्चित अधिवक्ता आज़ाद हत्याकांड

विक्रम सिंह / सुल्तानपुर
यूपी पुलिस दावे कुछ भी करे, उसकी जबरदस्त फजीहत हो रही है सुल्तानपुर में घटित हाईप्रोफाइल अधिवक्ता हत्याकांड में। वारदात के ग्यारह दिन बाद भी पुलिस मुख्य आरोपी हार्डकोर टॉप फाइव शूटर सिराज अहमद को पकड़ने में नाकाम साबित हो चुकी है। नतीजतन खीझ मिटाने के लिए इनाम की राशि बढ़ाकर अब ५०,००० रुपए से एडीजी ने १,००,०००रुपए कर दी है।

सनद रहे कि, ११ दिन पूर्व ६ अगस्त को सरेशाम देहात कोतवाली क्षेत्रांतर्गत भुलकी चौराहे पर सुल्तानपुर सिविल कोर्ट के युवा अधिवक्ता आज़ाद अहमद को भाई समेत हार्डकोर अपराधियों ने गोलियों से भून डाला था। उनकी तो मौके पर ही मौत हो गई थी लेकिन गंभीर रूप से जख्मी सगा भाई मुनव्वर अभी भी लखनऊ के ट्रामा सेंटर में जिंदगी के लिए जूझ रहा है। इस प्रकरण में पुलिस की लचर कार्यशैली और अपराधियों से सांठगांठ की कलई भी खुलकर सामने आ चुकी है। बार एसोसिएशन वारदात के दिन से ही कामकाज छोड़ आंदोलित रहा। बात निकली तो सीएम योगी आदित्यनाथ तक जा पहुंची लेकिन सिराज पुलिस की चंगुल में आ न सका। एसटीएफ भी लग गई लेकिन परिणाम शून्य। अब मजबूरन पहले इनाम की रकम बढ़ा कर एक लाख की गई तो वहीं देहात कोतवाल कृष्ण मोहन सिंह बुधवार को लाइन हाजिर कर बैक टू पैवेलियन कर दिए गए। करीब दो साल से शहर कोतवाल निरीक्षक रामआशीष उपाध्याय भी सवालों के घेरे में हैं।उनपर भी तलवार लटक रही है , हालांकि अपने राजनीतिक संबंधों की वजह से अभी सुरक्षित हैं।

अन्य समाचार

लालमलाल!