मुख्यपृष्ठनए समाचारमहाराष्ट्र की मिट्टी गद्दारों को नहीं मर्दों को जन्म देती है! वीएचपी...

महाराष्ट्र की मिट्टी गद्दारों को नहीं मर्दों को जन्म देती है! वीएचपी और बजरंग दल के पदाधिकारी शिवसेना में शामिल

  • हमने हिंदुत्व नहीं छोड़ा 
  • उद्धव ठाकरे ने लगाई भाजपा को फटकार

सामना संवाददाता / मुंबई
हिंदुत्व के मुद्दे को लेकर विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल जैसे संघ परिवार के लोग शिवसेना में शामिल हो रहे हैं। हिंगोली के कुल श्रेष्ठ लोग शिवसेना में शामिल हो रहे हैं। आमतौर पर सत्ताधारी दल में प्रवेश के लिए कतार लगती है। लेकिन पहली बार महाराष्ट्र में एक अलग ही तस्वीर देखने को मिल रही है। यह गर्व की बात है, क्योंकि महाराष्ट्र की धरती मर्दों को जन्म देती है, गद्दारों को नहीं। इसकी झलक दिखाने वाली मंडली शिवसेना में आ रही है। हमने हिंदुत्व छोड़ दिया है, ऐसा राग भाजपा अलाप रही थी, उसे भेदने वाली ये सब घटना है। इन शब्दों में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने भाजपा और बागियों को फटकार लगाते हुए शिवसेना में शामिल हुए कार्यकर्ताओं का स्वागत किया।
शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में कल ‘मातोश्री’ आवास पर वीएचपी, बजरंग दल के पदाधिकारी उद्धव कदम और हिंगोली जिले के कलमनुरी के पूर्व विधायक संतोष तारपेâ सहित कई कार्यकर्ताओं ने शिवसेना में प्रवेश किया। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने शिवबंधन बांधकर उनका स्वागत किया। इस मौके पर शिवसेना नेता व सांसद अरविंद सावंत भी मौजूद थे। उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य में एक अलग ही तस्वीर उभर रही है। बहुजन, वंचित और मुस्लिम बंधु भी शिवसेना में शामिल होने की तैयारी कर रहे हैं। यह तस्वीर देश के लिए मार्गदर्शक बनेगी।
हिंगोली में विरोधियों में हलचल
शिवसेना के नांदेड़ हिंगोली के जिला संपर्क प्रमुख बबनराव थोरात ने विरोधियों को काफी परेशान कर दिया है। बबनराव थोरात के मास्टर स्ट्रोक ने फिर विरोधियों को झटका दिया है। पूर्व विधायक संतोष तारपेâ और अजीत मगर का शिवसेना में शामिल होना हिंगोली जिले की राजनीति में नया बदलाव लाएगा। इससे हिंगोली में विरोधियों में हलचल मच गई है।
संतोष बांगर को झटका
कलमनुरी के पूर्व विधायक संतोष तारपेâ और किसान नेता अजीत मगर ने उद्धव ठाकरे की मुख्य उपस्थिति में शिवसेना में प्रवेश किया। उनके साथ हिंगोली के उनके सैकड़ों समर्थक भी शिवसेना में शामिल हो गए। इन दोनों नेताओं का शिवसेना में शामिल होना बागी विधायक संतोष बांगर के लिए झटका माना जा रहा है।
शिवसेना हिंदुत्व और संयुक्त महाराष्ट्र की अस्मिता
वीएचपी पदाधिकारी उद्धव कदम ने कहा कि मैं कोकण क्षेत्र में विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के लिए काम करता था। शिवसेना हिंदुत्व और संयुक्त महाराष्ट्र की अस्मिता के मंदिर का केंद्र है। इसके महत्व और महानता को बरकरार रखा जाना चाहिए। क्योंकि मुंबई बचेगी तो महाराष्ट्र बचेगा। महाराष्ट्र बचेगा तो महाराष्ट्र की अस्मिता बचेगी। अब तक हम संघ के बंधन में काम कर रहे थे, अब हम छत्रपति शिवाजी महाराज और शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे के शिवबंधन में काम करने आए हैं।
संघ परिवार में ईमानदार कार्यकर्ताओं का दुरुपयोग
उद्धव कदम ने कहा कि इस समय हमारे जैसे शिवसेना में आनेवाले लोगों का छोटा सा रूप है, लेकिन कुछ ही दिनों में यह एक बड़ी धारा में बदल जाएगा। क्योंकि वर्तमान में विश्व हिंदू परिषद और संघ परिवार में ईमानदार कार्यकर्ता हैं, लेकिन उनका दुरुपयोग किया जा रहा है। उनका दुरुपयोग वरिष्ठ लोग कर रहे हैं। धार्मिक गुटबाजी हो रही है। इसलिए महाराष्ट्र में कई पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की शिवसेना के प्रति आस्था है।

 

अन्य समाचार