मुख्यपृष्ठनए समाचारहिंदुस्थान में फैलता सेक्सटॉर्शन का जाल ... सांसद-विधायक भी जद में!!

हिंदुस्थान में फैलता सेक्सटॉर्शन का जाल … सांसद-विधायक भी जद में!!

• अब भाजपा सांसद के साथ किया गया प्रयास
• अंतर्राज्यीय गिरोह का हुआ पर्दाफाश

सामना संवाददाता / मुंबई
हिंदुस्थान में सेक्सटॉर्शन का जाल लगातार फैलता जा रहा है। चिंतावाली बात यह है कि अब इसकी जद में सांसद व विधायक जैसे लोग भी आने लगे हैं। ताजा मामला हरियाणा का है जहां के भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद चौधरी धर्मबीर सिंह को कॉल कर फंसाने की कोशिश की गई थी। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब तीन आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए। इन तीनों आरोपियों की उम्र २२ से २४ साल के बीच है। ये लोग सिर्फ १०वीं कक्षा तक ही पढ़े-लिखे हैं। इनमें से दो आरोपी सगे भाई हैं। बता दें कि इसके पहले महाराष्ट्र से भी एनसीपी के एक विधायक यशवंत माने के साथ भी इस तरह का प्रयास सायबर ठगों द्वारा किया जा चुका है।
८ घंटे में आरोपी गिरफ्तार
आरोपियों ने सांसद को २८ सितंबर को कॉल कर फंसाने की कोशिश की थी। जिसके बाद धर्मबीर सिंह ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शिकायत के सिर्फ ८ घंटे में तीनों आरोपियों को दबोच लिया। पुलिस ने बताया कि आमिर नाम का आरोपी ट्रक ड्राइवर है जो विभिन्न राज्यों से सिम लाकर अपने दूसरे आरोपी भाई तालीम को देता था। तालीम यूट्यूबर और पुलिस बनकर लोगों से पैसे की डिमांड करता था। वहीं, तीसरा आरोपी पैâज मुहम्मद लोगों को कॉल करके अश्लील वीडियो तैयार करता था। जिसके बाद ठगी का खेल शुरू होता था।
कई राज्यों में फैला है जाल
बताया जाता है कि यह गिरोह अभी तक १७ राज्यों तक अपराध कर चुका है। और कई लोगों को ब्लैकमेल करके पैसे ऐंठ चुके हैं। खुलासा हुआ है कि ये लोग लगभग २५२ लोगों को वीडियो कॉल कर अश्लील क्लिप बना चुके हैं। पुलिस ने आरोपियों से १३ फोन और १५ सिम भी बरामद की हैं। पुलिस ने ६ फोन का डाटा खंगाला है। जिससे पता लगा है कि पंजाब में ८८ और बंगाल में १६ वारदात की गई हैं, वहीं, हरियाणा में ६५, जम्मू-कश्मीर में ११ वारदात आरोपी कर चुके हैं। महाराष्ट्र में २९ वीडियो कॉल की गई हैं।
अधिकतर लोग नहीं करते शिकायत
ऐसे मामलों में अधिकतर लोग शिकायत नहीं करते हैं। इस मामले में भी ऐसा ही हुआ है। जिन लोगों की क्लिप आरोपियों ने बनाई, उनमें से अधिकतर ने पुलिस से शिकायत नहीं की है। कुछ लोगों ने आरोपियों को पैसे भी दिए हैं।

ऐसे बरतें सावधानी
पोर्न देखने से बचें।
हमेशा सिक्योर वेबसाईट पर ही सर्फिंग करें।
सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल लॉक रखें।
अनजान नंबर से आने वाले वीडियो कॉल अटेंड न करें।
अपनी निजी फोटो या इनफॉर्मेशन सोशल मीडिया पर प्राइवेट रखें।
फेसबुक सहित सभी सोशल मीडिया पर अपना अकाउंट प्राइवेट रखें।
वॉट्सऐप या दूसरे मैसेंजर पर अनजान लोगों से चैटिंग करने से बचें।
कुछ भी संदिग्ध होने पर तत्काल पुलिस से संपर्क करें।

अन्य समाचार