मुख्यपृष्ठनए समाचार... तब कोई बगावत नहीं हुई थी -शरद पवार

… तब कोई बगावत नहीं हुई थी -शरद पवार

अजीत पवार पर कसा तंज, कहा शिकायत करने की जरूरत नहीं
सामना संवाददाता / मुंबई
शरद पवार ने कहा कि मैंने हमेशा नए लोगों को प्रोत्साहित करने का प्रयास किया। हालांकि यह सच है कि पिछले १० से १५ वर्षों से मैंने बारामती पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया है। मैंने कभी कोई निर्णय नहीं लिया। शरद पवार ने अजीत पवार को जवाब देते हुए कहा कि हमारे समय में कोई बगावत नहीं हुई थी और हम बैठकर पैâसले लेते थे। वे पुणे में भीमथडी की प्रदर्शनी देखने आए थे। उन्होंने पत्रकारों से यहां बातचीत के दौरान कहा कि हमने यशवंतराव चव्हाण की विचारधारा को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया था। सभी ने एक साथ बैठक कर निर्णय लिया था। इसके बारे में शिकायत करने की जरूरत नहीं है। अगर आज किसी ने कुछ किया है तो शिकायत करने का क्या मतलब? उन्होंने कहा कि पार्टी का गठन वैâसे हुआ? पार्टी के संस्थापक कौन हैं? ये तो हर कोई जानता है। पवार ने अजीत पवार को तंज कस्ते हुए कहा कि अब इस पर टिप्पणी करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि आज राज्य में लोकसभा चुनाव हुआ तो गद्दार गठबंधन को जोरदार झटका लगेगा और महाविकास आघाड़ी को सफलता मिलेगी। इस तरह का अनुमान सी वोटर के सर्वे में लगाया गया है। इस सर्वे पर कई राजनीतिक नेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया दी है, जिसमें शरद पवार ने सीधे तौर पर कहा है कि सर्वे पर भरोसा न करें। शरद पवार ने कहा कि किसी को भी सर्वे के आधार पर निष्कर्ष नहीं निकालना चाहिए। सर्वेक्षण हमेशा आते रहते हैं। उसमें कई बार सच और झूठ दोनों ही होते हैं। शरद पवार ने कहा कि अभी पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए। उनका सर्वे अलग-अलग आंकड़े बता रहा था।

अन्य समाचार

कुदरत

घरौंदा