मुख्यपृष्ठनए समाचारतानाशाही का विकल्प नहीं होता, उसे उखाड़ फेंकना पड़ता है! ... उद्धव...

तानाशाही का विकल्प नहीं होता, उसे उखाड़ फेंकना पड़ता है! … उद्धव ठाकरे का भाजपा पर जोरदार हमला

सामना संवाददाता / मुंबई
कई लोगों के मन में आज भी सवाल कौंध रहा है कि ‘इंडिया’ है, महाविकास आघाड़ी है, लेकिन विकल्प कहां है? तानाशाही का विकल्प नहीं होता, उसे उखाड़ फेंकना पड़ता है। इस तरह का जोरदार हमला शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल भारतीय जनता पार्टी पर किया है।
‘मातोश्री’ निवास स्थान पर उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में पैठण निर्वाचन क्षेत्र में साल २०१९ में हुए चुनाव के दौरान दूसरे स्थान पर रहे राकांपा प्रत्याशी व पूर्व नगराध्यक्ष दत्ता गोर्डे, वैजापुर के चिकित्सा व्यवसायी डॉ. राजू डोंगरे और छत्रपति संभाजी नगर के प्रसिद्ध बाल रोग विशेषज्ञ व एशियन अस्पताल के निदेशक डॉ. शोएब हाशमी ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ शिवसेना में प्रवेश किया। उद्धव ठाकरे ने उन्हें शिवबंधन बांधकर उनका पक्ष में स्वागत करते हुए वहां मौजूद लोगों का मार्गदर्शन किया।

अब दिल्ली के तख्त पर एक अलग भगवा तूफान दिखाई देगा जो
तानाशाही की चीरफाड़ करेगा!-उद्धव ठाकरे की चेतावनी
सामना संवाददाता / मुंबई
कल महाराष्ट्र के कई प्रबुद्ध लोगों ने शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्ष में प्रवेश किया। शिवसेनाप्रक्षप्रमुख ने उन्हें शिवबंधन बांधकर पक्ष में उनका स्वागत किया। इस दौरान शिवसेनापक्षप्रमुख ने कहा कि कोरोना काल में हमने ‘माझे कुटुंब माझी जबाबदारी’ संकल्पना की शुरूआत की थी। अब महाराष्ट्र और देश पर आए दूसरे संकट में मेरा कुटुंब मेरे साथ है अथवा नहीं, यह देखने के लिए मैं महाराष्ट्र में घूम रहा हूं। उद्धव ठाकरे ने इस दौरान हाल में ही किए अपने कोकण दौरे का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि हाल ही में हमने महाराष्ट्र के तटीय इलाके का दौरा किया। महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्र में कुछ समय पहले ‘निसर्ग’ और ‘ताउते’ नामक दो चक्रवाती तूफान आए थे, लेकिन बीते चार दिनों में दिखा कि एक अलग भगवा तूफान अब दिल्ली की तख्त पर दिखाई देगा और तानाशाही की चीरफाड़ करेगा।
भाजपा से लोग शिवसेना में आ रहे हैं। मुस्लिम समाज के लोग बड़ी संख्या में शिवसेना में आ रहे हैं, इसका अनुभव हर दौरे में मिल रहा है, यह कहते हुए उद्धव ठाकरे ने तंज कसा कि पिछले १० वर्षों में भाजपा द्वारा किए गए घृणित कामकाज अब खुल गए हैं। उन्होंने आगे कहा कि गांव-गांव में लोग मोदी सरकार के रथ को रोककर जवाब मांग रहे हैं, क्योंकि वहां तक योजनाएं पहुंची ही नहीं हैं। ऐसे इस नकली कामकाज को खत्म करने के लिए आप शिवसेना में आए हैं। संकट के समय महाराष्ट्र देश को दिशा दिखाता है, उसी तरह मौजूदा संकट में भी महाराष्ट्र देश की दिशा तय करेगा और तानाशाही को गाड़ेगा, इसका मुझे विश्वास है।
महाराष्ट्र में कायरों की अपेक्षा मर्द मावले अधिक
उद्धव ठाकरे ने कहा कि लोग घुट रहे हैं, शरण में जा रहे हैं। नीतिश कुमार की तरह बाकी लोग जा रहे हैं। लाचार हैं, डरपोक हैं वे जरूर जाएं, लेकिन आज भी महाराष्ट्र में डरपोकों की अपेक्षा मर्द ज्यादा हैं, ये आपने दिखा दिया।
जल्द ही छत्रपति संभाजीनगर व जालना आऊंगा
उद्धव ठाकरे ने उपस्थित कार्यकर्ताओं से कहा कि मराठवाड़ा से आया, पैठण-वैजापुर से आया। मराठवाड़ा भी संतों की भूमि है और वहां भी गद्दारी का वजूद नहीं रहता। कोकण घूमा, वैसे ही जल्द मैं छत्रपति संभाजीनगर और जालना में आऊंगा।

अन्य समाचार