मुख्यपृष्ठनए समाचारठाणेकरों की यात्रा में आ सकती है बाधाएं! ...टीएमटी में कार्यरत 400...

ठाणेकरों की यात्रा में आ सकती है बाधाएं! …टीएमटी में कार्यरत 400 से ज्यादा ठेका कंडक्टरों ने दी हड़ताल की चेतावनी

21 अगस्त से करेंगे अनिश्चितकालीन हड़ताल

सामना संवाददाता / ठाणे

बेस्ट के ठेका कर्मचारियों ने जिस तरह से हड़ताल का हथियार उठाया उसी तरह अब ठाणे परिवहन सेवा के धर्मवीर आनंद दिघे आगार में काम करनेवाले ठेके पर कार्यरत करीब 400 पुरुष और महिला कंडक्टरों ने वेतन वृद्धि सहित अन्य मांगों को लेकर 21 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। ऐसे में ठाणेकरों की यात्राओं में बाधाएं आने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

बता दें कि कुछ दिन पहले बेस्ट के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गए थे। जिसके बाद राज्य सरकार को बेस्ट के कर्मचारियों की मांगे माननी पड़ी थी। अब इसी तर्ज पर ठाणे परिवहन सेवा के ठेके पर काम करनेवाले कंडक्टर (वाहक) भी आक्रामक हो गए हैं। इस प्रकार 120 महिलाओं और 280 पुरुषों सहित 400 से अधिक कंडक्टरों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल करने का निर्णय लिया है। इस हड़ताल से परिवहन सेवा को डर है कि कंडक्टरों के साथ ड्रायवर भी हड़ताल में शामिल हो सकते हैं इससे यात्रा संबंधित परेशानी बढ़ सकती है।

परिवहन प्रशासन ने ठेकेदार को दिया नोटिस!
जीसीसी आधार पर संचालित आनंद नगर डिपो भी इस हड़ताल से प्रभावित हो सकता है। इसलिए ठाणे परिवहन प्रशासन ने ठेकेदार को नोटीस थमाया है। वहीं यहां के ठेकेदार ने हड़ताल में शामिल होनेवाले कंडक्टर और ड्राइवरों के खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। साथ ही ठेकेदार ने मांग की है कि जो कंडक्टर परिवहन में स्थायी सेवा में हैं, उन्हें इस अवधि के दौरान उपलब्ध कराया जाए ताकि यात्रियों पर असर न पड़े। या फिर परिवहन के पहले स्टेशन और आखिरी स्टेशन पर टिकटिंग की सुविधा प्रदान करें ताकि यात्रियों को असुविधा न हो।

प्रशासन ने उठाया यह कदम
इस बीच यात्रियों को असुविधा न हो इसके लिए परिवहन प्रशासन ने कदम उठाया है। परिवहन व्यवस्थापक भालचंद्र बेहरे के अनुसार स्थायी सेवा में लगे कर्मचारियों को विशेष निर्देश दिये हैं। तदनुसार, हड़ताल समाप्त होने तक साप्ताहिक अवकाश और अन्य सभी प्रकार की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। जिन कर्मचारियों को अग्रिम अवकाश स्वीकृत किया गया है, वे बिना अवकाश लिए निर्धारित समय पर ड्यूटी पर उपस्थित रहेंगे, कोई भी कर्मचारी बिना अनुमति के ड्यूटी से अनुपस्थित नहीं रहेगा। साथ ही यदि कोई कर्मचारी बिना अनुमति के अवकाश स्वीकृत किये बिना अनुपस्थित रहा तो उसका अवकाश मंजूर नहीं किया जाएगा। साथ ही परिवहन व्यवस्थापक बेहेरे ने चेतावनी दी है कि नियमों और आदेशों का पालन न करने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी।

अन्य समाचार

लालमलाल!