मुख्यपृष्ठनए समाचारजमकर हुई फर्जी वोटिंग ...पवार ने की चुनाव आयोग से कार्रवाई की...

जमकर हुई फर्जी वोटिंग …पवार ने की चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्य में लोकसभा चुनाव के लिए पांचवें चरण का मतदान पूरा हो चुका है। इस दौरान पैसे बांटने और मतदाताओं पर दबाव बनाने की कई घटनाएं हुर्इं। रोहित पवार ने आरोप लगाया था कि बीड और बारामती चुनाव में पैसे का दुरुपयोग किया गया और कुछ लोगों ने नागरिकों पर दबाव डाला था, जिससे राजनीतिक माहौल काफी गरमा गया था। अब एनसीपी (शरद चंद्र पवार) अध्यक्ष शरद पवार ने भी आरोप लगाया है कि बीड और बारामती में फर्जी वोटिंग हुई थी। उन्होंने इस संबंध में चुनाव आयोग से सख्त कार्रवाई की भी मांग की है। वे एक समाचार चैनल को दिए बयान में बोल रहे थे।
शरद पवार ने कहा कि बीड, पुणे, बारामती लोकसभा क्षेत्रों को छोड़कर बाकी जगहों पर मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ था। महाराष्ट्र में कभी पैसे का इस्तेमाल नहीं हुआ था, लेकिन इस वर्ष बड़ी मात्रा में धन बल का उपयोग किया गया। बारामती लोकसभा क्षेत्र में रात २ बजे एक बैंक खुला था और वहां से पैसे बांटे जाते थे। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ, लेकिन इस साल हमने कुछ जगहों पर ऐसी चीजें देखी हैं। उन्होंने कहा कि बीड और बारामती में जमकर फर्जी वोटिंग हुई है। इतना ही नहीं बीड में बूथ वैâप्चरिंग हुई। ऐसा हाल पुणे जिले में भी देखने को मिला। मैं इस बात पर जोर देता हूं कि जो भी इसके पीछे हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।
आयोग के फैसलों से हमें दिक्कत
शरद पवार ने चुनाव आयोग की मौजूदा भूमिका पर भी बयान दिया है। शरद पवार ने कहा कि चुनाव आयोग अभी भी कुछ पैâसले ऐसे ले रहा है, जिससे हमें दिक्कत हो रही है। हमारी पार्टी और निशानी छीन ली गई, हमें अदालत जाना पड़ा, लेकिन हमने इसे स्वीकार कर चुनाव लड़ने का पैâसला किया। हम खुद ४८ में से १० सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं और हमें इससे फायदा दिख रहा है।

मुख्यमंत्री के ठाणे में फर्जी वोटिंग

ठाणे में लोकसभा चुनाव के लिए पांचवें चरण का मतदान होने के साथ ही फर्जी वोटिंग की शिकायतें भी सामने आने लगी। ठाणे में लाखों मतदाता लोकतंत्र का त्योहार मनाने के लिए निकले। जहां हर तरफ उत्साह का माहौल था, वहीं दोपहर में वोट देने आए काफी मतदाताओं को निराशा हाथ लगी। फर्जी वोटिंग के कारण भरत बैवा (३८) वोट नहीं डाल सके। इस बीच महाविकास आघाड़ी शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्ष के उम्मीदवार राजन विचारे ने कलेक्टर से फर्जी वोटिंग की जांच करने की मांग की है।
कहां हुई फर्जी वोटिंग?
भरत बैवा जब सेंट जॉन्स स्कूल स्थित मतदान केंद्र पर वोट देने पहुंचे तो अधिकारियों ने कहा कि आपके नाम पर तो वोट पड़ चुका है। भरत बैवा ने मांग की है कि प्रशासन उचित कार्रवाई करे और फर्जी वोटिंग पर ध्यान दे।

अन्य समाचार