मुख्यपृष्ठनए समाचारसंसद में होगा `सत्ता' से संग्राम! गूंजेगा संजय राऊत का नाम

संसद में होगा `सत्ता’ से संग्राम! गूंजेगा संजय राऊत का नाम

  • शिवसेना दोनों सदनों में निरंकुश हुई ईडी पर करेगी चर्चा की मांग

सामना संवाददाता / मुंबई
शिवसेना नेता व सांसद संजय राऊत की गिरफ्तारी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। केंद्रीय जांच एजेंसियों द्वारा विपक्षी नेताओं के खिलाफ की जा रही एकतरफा कार्रवाई को लेकर शिवसेना के सांसदों ने संसद के दोनों सदनों में आवाज बुलंद करने का फैसला किया है। लोकसभा के अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति को इस संबंध में पत्र लिखकर सदन में विशेष चर्चा कराने की मांग की गई है। मतलब आगामी दिनों में संसद के दोनों सदनों में शिवसेना सांसदों का `सत्ता’ से संग्राम होगा और संजय राऊत का ही नाम गूंजेगा।
शिवसेना नेता व राज्यसभा सदस्य अनिल देसाई ने संजय राऊत की गिरफ्तारी को लेकर सदन में चर्चा कराने की मांग को लेकर पत्र लिखा है। देसाई के अनुसार संजय राऊत की गिरफ्तारी शिवसेना की आवाज दबाने के लिए की गई है। संजय राऊत के प्रयास से राज्य में महाविकास आघाड़ी लोकहित के लिए बेहतर काम कर रही थी। संजय राऊत केंद्र सरकार की गलत नीतियों का खुलकर विरोध कर रहे थे। उनकी आवाज दबाने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उन पर कार्रवाई की है। देसाई के मुताबिक इससे पहले संजय राऊत ने ईडी के समक्ष पेश होकर अपनी बात रखी थी लेकिन उन्हें झूठे मामलों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। ईडी की इस कार्रवाई के विरुद्ध शिवसेना सड़क से लेकर संसद और कानूनी लड़ाई लड़ेगी। शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि ईडी को इसका जवाब देना ही होगा। केन्द्रीय  जांच एजेंसियों के दुरुपयोग पर सदन में चर्चा होनी ही चाहिए।

अन्य समाचार