मुख्यपृष्ठनए समाचारकोरोना, मंकीपॉक्स और लिंपी लगे ही हैं ...लैंग्या भी आया टेंशन बढ़ाने

कोरोना, मंकीपॉक्स और लिंपी लगे ही हैं …लैंग्या भी आया टेंशन बढ़ाने

चीन में ३५ लोगों के संक्रमित पाए जाने का संदेह
एजेंसी / बीजिंग
चीन के वुहान स्थित मांस बाजार से निकला कोरोना का वायरस बीते करीब ढाई वर्षों से भी अधिक समय से पूरी दुनिया में कहर ढा रहा है। कोविड-१९ के वायरस से जूझ रही दुनिया को पिछले कुछ महीनों से मंकी पॉक्स एवं पशुओं (मवेशियों) में तेजी से पांव पसार रहे लिंपी नामक वायरस भी डरा रहा है। इसी बीच एक बार फिर चीन से आई एक नए वायरस की खबर दुनिया को खौफजदा करने लगी है। चीन के शानडोंग और हेनान प्रांतों में ३५ लोगों के नए वायरस ‘लैंग्या हेनिपावायरस’ से संक्रमित पाए जाने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि इस नए वायरस के बारे में अभी कुछ ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं हैं और यह भी पता नहीं चल सका है कि यह मनुष्य से मनुष्य के बीच पैâलता है या नहीं? लेकिन ऐसा अनुमान है कि इस नए वायरस का संबंध हेंड्रा और निपाह वायरस से हो सकता है।

बता दें कि चीन में अनुसंधानकर्ताओं ने बुखार से पीड़ित लोगों की नियमित निगरानी के तौर पर नए वायरस का पता लगाया और यह ऐसे लोग थे जो हाल फिलहाल जानवरों के संपर्क में आए थे। एक बार जब वायरस का पता चला तो अनुसंधानकर्ताओं ने अन्य लोगों में वायरस का पता लगाया।

ये हैं लक्षण
इस वायरस से संक्रमण के लक्षण ज्यादातर हल्के प्रतीत हो रहे हैं, जिनमें बुखार, थकान, खांसी, भूख न लगना, हड्डियों में दर्द, उलटी और सिर में दर्द शामिल हैं। हालांकि हमें यह नहीं पता कि मरीज कितने वक्त तक बीमार रहे हैं? बेहद कम लोगों में अधिक गंभीर लक्षण देखे गए हैं, जिनमें निमोनिया और जिगर तथा गुर्दे में समस्याएं शामिल हैं।

छछूंदरों से फैलने की आशंका
वायरस के बारे में शोधकर्ता फिलहाल यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि इस वायरस का स्रोत घरेलू या जंगली जीव हैं? हालांकि उन्हें पता लगा कि अतीत में कुछ बकरी और कुत्ते इस वायरस से संक्रमित पाए गए थे। लेकिन इस बार अधिक प्रत्यक्ष प्रमाण मिले हैं कि यह वायरस जंगली छछूंदरों से पैâला हो सकता है। अर्थात मनुष्यों में यह संक्रमण छछूंदरों से पैâला हो सकता है। मनुष्यों में पाए गए निपाह वायरस और हेंड्रा वायरस परिवार का यह सदस्य हो सकता है। हेंड्रा वायरस का पता सबसे पहले १९९४ में क्वींसलैंड में चला, जब इससे १४ घोड़ों और प्रशिक्षक विक रेल की मौत हो गई। इसके बाद से क्वींसलैंड और उत्तरी न्यू साउथ वेल्स में घोड़ों में कई तरह के वायरसों का पता चला है। ऑस्ट्रेलिया में हेंड्रा वायरस से मनुष्यों के संक्रमित होने के सात मामलों का पता चला है। इनमें से चार की मौत हो गई। निपाह वायरस से पूरी दुनिया परिचित है क्योंकि यह सब जगह पैâल चुका है। बांग्लादेश में इसका सर्वाधिक कहर टूटा है।

अन्य समाचार