मुख्यपृष्ठटॉप समाचारभारत रत्न डॉ. स्वामीनारायण की बेटी की केंद्र से सीधी बात ‘ये...

भारत रत्न डॉ. स्वामीनारायण की बेटी की केंद्र से सीधी बात ‘ये किसान हैं, क्रिमिनल नहीं’!

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
मोदी सरकार का दूसरा कार्यकाल पूरा होने के मुहाने पर है और दो महीने के बाद ही लोकसभा चुनाव होना है। इसके बावजूद किसानों की नाराजगी दूर करने में मोदी सरकार पूरी तरह से नाकाम रही है। दो साल के बाद एक बार फिर से देशभर के किसान अपनी मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। किसानों के अंदोलन को रोकने के लिए केंद्र सरकार क्रूरता की पूरी हद पार कर रही है। ड्रोन से अश्रू गैसे के गोले दागने और रबर की गोलियां चलाने से भी पुलिस बाज नहीं आ रही है।
देश के अन्नदाताओं के साथ आतंकियों जैसा व्यवहार किए जाने को लेकर भारत रत्न डॉ. स्वामीनाथन की बेटी मधुरा स्वामीनाथन का कहना है कि एमएस स्वामीनाथन का सम्मान अगर सरकार करती है तो किसानों को साथ लेकर चले। दिल्ली के पूसा में भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए मधुरा स्वामीनाथन ने कहा कि किसान हमारे अन्नदाता हैं। उनके साथ अपराधियों की तरह व्यवहार नहीं किया जा सकता। इस दौरान उन्होंने किसानों के विरोध पर हरियाणा सरकार के बयान का जिक्र किया था। मधुरा स्वामीनाथन ने कहा कि पंजाब के किसान दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं।
मेरा मानना है कि अखबारों की रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा में उनके लिए जेलें तैयार की जा रही हैं, बैरिकेडिंग की जा रही है। उन्हें रोकने के लिए हर तरह की चीजें की जा रही हैं। सरकार को समझना चाहिए कि ये किसान हैं, अपराधी नहीं।
बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार ने हरित क्रांति के जनक और कृषि वैज्ञानिक डॉ. एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न से सम्मानित करने का एलान किया है। हालांकि, उनकी बेटी मधुरा स्वामीनाथन का कहना है कि एमएस स्वामीनाथन का सम्मान अगर सरकार करती है तो किसानों को साथ लेकर चले।

अन्य समाचार