मुख्यपृष्ठनए समाचारये है भाजपा की गारंटी... फसल नष्ट होने पर यवतमाल के किसान...

ये है भाजपा की गारंटी… फसल नष्ट होने पर यवतमाल के किसान को मिला बीमा का `५२!

– बैंक से पैसे लाने के लिए मांगी पुलिस सुरक्षा

सामना संवाददाता / मुंबई

सूखे, ओलावृष्टि से किसानों की फसल बर्बाद हो चुकी है। वे खेतों में फसलों की हालत देखकर रो रहे हैं, लेकिन राज्य में ‘घाती’ सरकार और फसल बीमा कंपनियां अपनी मनमर्जी चला रही हैं। ऐसे ही एक मामले में फसल बीमा कंपनी ने यवतमाल जिले के एक किसान को एक रुपए के सरकारी बीमा के तहत ५२.९९ रुपए का भुगतान किया है। इसे देख यह किसान अत्यधिक हताश हो गया। इतना ही नहीं, घाती सरकार की कृपा और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की गारंटी से मिली इतनी बड़ी राशि को बैंक से लाने के लिए किसान ने सशस्त्र पुलिस सुरक्षा की मांग भी की है।
किसान दिलीप राठौड़ ने पुलिस सुरक्षा के लिए यवतमाल पुलिस से निवेदन किया है। किसान ने कहा है कि केंद्र और राज्य सरकार की मेहरबानी से बीमा कंपनी ने हमें ५२.९९ रुपए का अच्छा-खासा फसल बीमा मंजूर कर दिया है। यह रकम देखकर मैं बहुत आनंदित हो उठा हूं। मेरे जैसे गरीब किसान के लिए यह रकम ५० खोकों से भी बड़ी है। मैं इस रकम की सुरक्षा को लेकर बहुत चिंतित हूं। इसके अलावा इतनी रकम बैग या सूटकेस में ले जाना संभव नहीं है। इसलिए इसे लाने के लिए मैं एक पुश्तैनी तिजोरी और एक बैलगाड़ी लाया हूं। पैसे घर ले जाते समय रास्ते में डकैती हो सकती है, इसलिए राठौड़ ने छह सशस्त्र पुलिस मुहैया कराने की बात निवेदन में कही है। निवेदन के नीचे उन्होंने ‘फसल बीमा से मालामाल हुए किसान’ यह लिखकर हस्ताक्षर किया है।
इन पैसों से मैं क्या करूंगा, हताश किसान कह रहा…
दिलीप राठौड़ ने आगे इस रकम का क्या करेंगे, यह भी इस निवेदन में लिखा है।
सिबिल की दमनकारी स्थिति के कारण बैंक से फसल कर्ज न मिलने के कारण सबसे पहले साहूकार से दोगुने-तिगुने ब्याज पर लिया गया कर्ज चुकाऊंगा।
जंगली जानवरों से खड़ी फसलों को नष्ट होने से बचाने के लिए खेतों पर तार से बाड़ लगाऊंगा।
तबीयत ठीक न होने के बावजूद दिन-रात मेहनत करनेवाली पत्नी को अस्पताल ले जाऊंगा।
कई महीनों से फटे पैंट पहनकर स्कूल जा रहे बेटे के लिए कपड़े खरीदूंगा।
बालिग हो गई बेटी की बड़ी धूमधाम से शादी करूंगा और पूरे परिवार के साथ एक बार गुवाहाटी आऊंगा।
किसानों के जीवन में भरपूर खुशहाली लानेवाले पालक मंत्री संजय राठौड़ को देशी-विदेशी कारों की प्रदर्शनी के लिए पर्याप्त आर्थिक दान दूंगा और बचा-खुचा तिजोरी में रखूंगा।
तुरंत पुलिस भर्ती करे सरकार,लाखों किसानों को देनी पड़ेगी सुरक्षा
राज्य में दिलीप राठौड़ जैसे लाखों किसान हैं। इन सभी को फसल बीमा कंपनियों के चेक भुनाने के बाद पुलिस सुरक्षा मुहैया करानी होगी। पुलिस तंत्र में उपलब्ध मानव बल को देखते हुए वे अपर्याप्त होंगे, इसलिए सरकार को तुरंत नई भर्तियां करनी चाहिए।
-विजय वडेट्टीवार, नेता प्रतिपक्ष, विधानसभा

अन्य समाचार