मुख्यपृष्ठनए समाचारइस साल वैष्णो देवी आने वालों का आंकड़ा एक करोड़ को छुएगा,...

इस साल वैष्णो देवी आने वालों का आंकड़ा एक करोड़ को छुएगा, क्योंकि 7 महीनों में 58 लाख ने दर्शन कर पिछले साल का रिकार्ड तोड़ा है

सुरेश एस डुग्गर / जम्मू
इस साल वैष्णो देवी आने वालों की संख्या के एक करोड़ से अधिक होने की उम्मीद बढ़ गई है। यह उम्मीद इस साल पिछले सात महीनों के दौरान आने वाले 58 लाख श्रद्धालुओं के कारण जगी है। वैष्णो देवी यात्रा के इतिहास में यह दूसरा अवसर है कि 7 महीनों में आंकड़े ने 58 लाख को छुआ हो।

जारी वर्ष में श्रद्धालुओं के उत्साह का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जारी वर्ष के पहले 7 माह में 58 लाख से अधिक श्रद्धालु मां के दरबार में हाजिरी लगा चुके हैं, यानी कि जारी वर्ष के पहले 7 माह में 58,20,228 श्रद्धालु अब तक मां के चरणों में नतमस्तक हो चुके हैं। वहीं इसी समयावधि में बीते वर्ष 55,03,995 श्रद्धालु मां के दरबार हाजिरी लगाने पहुंचे थे। हालांकि, जारी वर्ष के जुलाई माह में बीते वर्ष के जुलाई माह के मुकाबले कम संख्या में श्रद्धालु मां के दरबार पहुंचे हैं। वर्ष 2023 के जुलाई माह में 77,6800 श्रद्धालु मां के द्वार पहुंचे थे, जबकि वर्ष 2022 के जुलाई माह में कुल 90,7542 श्रद्धालु मां के दरबार पहुंचे थे, यानी कि 13,0742 अधिक संख्या में श्रद्धालु बीते वर्ष के जुलाई माह में मां के दरबार पहुंचे थे।

बीते वर्ष के मुकाबले जारी वर्ष के पहले 7 माह में 31,6233 अधिक संख्या में श्रद्धालु मां के दरबार पहुंचे और हजारों की संख्या में रोजाना मां वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं का आना निरंतर जारी है। चाहे तीखी गर्मी हो या घनी धुंध या फिर रिमझिम बारिश बावजूद इसके श्रद्धालुओं के कदम निरंतर मां के भवन की ओर बढ़ रहे हैं। वर्ष 2023 के जनवरी माह में कुल 52,4189 श्रद्धालु मां के दरबार पहुंचे थे तो वहीं फरवरी माह में 41,4432 श्रद्धालु जबकि मार्च माह में 8,94,650 अप्रैल माह में 10,18,540 मई माह में 9,95,773 जून माह में 11,95,844 श्रद्धालु जुलाई माह में 7,76,800 श्रद्धालु मां के दर पहुंचे थे। वहीं जारी माह के पहले 7 माह में अब तक कुल 58,20,228 श्रद्धालु मां के दरबार में हाजिरी लगा चुके हैं।

वर्ष 2022 के जनवरी माह में 4,38,521 श्रद्धालु फरवरी माह में 3,61,074 श्रद्धालु मार्च माह में 7,78,669 श्रद्धालु अप्रैल माह में 9,02,192 श्रद्धालु मई माह में 9,86,766 श्रद्धालु जून माह में 11,29,231 श्रद्धालु, जबकि जुलाई माह में 9,07,542 श्रद्धालु मां के दरबार पहुंचे थे, यानी कि वर्ष 2022 के पहले 7 माह में कुल 55,03,995 श्रद्धालु मां के दरबार हाजिर लगाने पहुंचे थे।
बढ़ती भीड़ के कारण वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की चिंताएं भी बढ़ गई हैं। पहले से ही वह आने वालों को दी जाने वाली सुविधाओं को लेकर परेशान था, जिसके हल की खातिर वह आईआईएम अहमदाबाद की सहायता ले रहा है। वैष्णो देवी तीर्थ स्थान देश का पहला ऐसा तीर्थस्थान है, जहां वाहनों से नहीं बल्कि लोग पैदल ही 13 किमी की चढ़ाई चढ़ कर वैष्णो देवी की पिंडियों के दर्शनार्थ जाते हैं और इन नए बने रिकार्डों के बाद श्राइन बोर्ड को इस बार कुल संख्या एक करोड़ के पार जाने के रिकार्ड की भी आस जग गई है।

बढ़ती भीड़ के कारण हालत ऐसी है कि पहाड़ों के बीच स्थित गुफा के दर्शनार्थ आने वालों की सुविधाएं बढ़ाने का अब और कोई स्कोप श्राइन बोर्ड को नहीं सूझ रहा है। पहाड़ों को काट कर नए रास्ते बनाने का जोखिम श्राइन बोर्ड नहीं लेना चाहता, क्योंकि भूवैज्ञानिक इसके प्रति चेता रहे हैं।

अन्य समाचार