मुख्यपृष्ठनए समाचारकश्मीर में फुटबॉलर सिपाही सहित तीन जवान शहीद ...सेना के पैरा कमांडो...

कश्मीर में फुटबॉलर सिपाही सहित तीन जवान शहीद …सेना के पैरा कमांडो ने शुरू किया ऑपरेशन `विनाश’!

• मां बनने वाली है शहीद की पत्नी
• ड्रोन के जरिए आतंकियों की तलाश

दीपक शर्मा / जम्मू
उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले के एक फुटबॉलर सिपाही वसीम अहमद डार, शुक्रवार को दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में एक आतंकी मुठभेड़ में शहीद हुए तीन जवानों में से एक थे। वर्ष २०१४ में सेना में शामिल हुए डार कल रात कुलगाम के हलाण वन क्षेत्र में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गए। आतंकी संगठन पीएएफएफ ने इसकी जिम्मेदारी ली है और इसे अनुच्छेद ३७० खत्म करने का बदला बताया है।
पीएएफएफ ने एक बयान जारी कर कहा है कि संघ सरकार के अवैध तरीके से अनुच्छेद ३७० खत्म करने की पूर्व संध्या पर हमारे लड़ाकों ने हमला किया। इसके बाद सेना ने ड्रोन के जरिए घने जंगल में आतंकियों की तलाश तेज कर दी है। साथ ही सेना के पैरा कमांडों ने जंगल के भीतर छुपे आतंकियों की तलाश में ऑपरेशन `विनाश’ शुरू किया है।
श्रीनगर स्थित सेना की चिनार कोर के अनुसार, सेना की ३४ राष्ट्रीय राइफल्स और जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा इलाके में तलाशी अभियान शुरू करने के बाद आतंकियों से मुठभेड़ शुरू हो गई। शहीद वसीम अहमद डार का निकाह नवंबर २०२१ में हुआ था। शहीद के छोटे भाई ज़ुबैर सरवर डार ने बताया, `वसीम अहमद डार की पत्नी छह महीने की गर्भवती है।’ उनकी शादी नवंबर २०२१ में हुई थी। वो अपने पीछे माता, पिता, पत्नी, एक भाई और दो विवाहित बहनें छोड़ गए हैं। उन्होंने कहा कि वसीम आखिरी बार ईद पर घर आए थे।
इकरा फुटबॉल क्लब के लिए खेले
जिला फुटबॉल एसोसिएशन ने लिखा कि वसीम न केवल एक बहादुर और समर्पित सैनिक थे, बल्कि एक प्रतिभाशाली फुटबॉलर भी थे, जिनमें खेल के प्रति जुनून था। वो दाचीगाम में इकरा फुटबॉल क्लब के लिए खेले। उनके टीम के साथी और दोस्त उन्हें एक मिलनसार, शुद्ध दिल वाले व्यक्ति के रूप में याद करते हैं, जिन्होंने कभी किसी को धोखा नहीं दिया। पुलिस प्रवक्ता का कहना है कि मुठभेड़ स्थल दुर्गम पथरीला पहाड़ी क्षेत्र है।
तलाश अभियान तेज
कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विजय कुमार ने कहा कि यह इलाका घने जंगलों में है और वहां अंधेरा है। उन्होंने कहा कि घेराबंदी करके तलाशी तेज कर दी गई है। पुलिस द्वारा गुरुवार को कुलगाम जिले के चावलगाम इलाके के एक बाग से लापता सैनिक की बरामदगी के बाद कुलगाम में मुठभेड़ शुरू हो गई थी।

 

अन्य समाचार